सम्पूर्ण भारत में नवंबर 2019 को अपना 70वां संविधान दिवस मनाया जा रहा है

सम्पूर्ण भारत में नवंबर 2019 को अपना 70वां संविधान दिवस मनाया जा रहा है


 


आज से 70 साल पहले सरकार ने 26 नवंबर 1949 को भारत के संविधान को अपनाया था. जिसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था. बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर को भारत का संविधान निर्माता कहा जाता है.


 



 


वे संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष थे और उन्हें संविधान का फाइनल ड्राफ्ट तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन लगे. पूरे देश में 26 नवंबर को संविधान दिवस के तौर पर मनाया जाता है.उसी कड़ी में भाजपा जिला महानगर ने 27 नवम्बर को मोहन नगर स्थित आईटीएस कॉलेज में अनुसूचित मोर्चा के वैनर तले एक गोष्ठी का कार्यक्रम आयोजित कर बाबा साहब को याद किया. कार्यक्रम में अतिथि के रूप में राज्य सभा सांसद डॉक्टर अनिल अग्रवाल, सफाई  कर्मचारी संघ की राष्ट्रीय सदस्य मंजू दिलेर
क्षेत्रीय महामंत्री मुंशी लाल गौतम  पूर्व डिप्टी मेयर राजेश्वर प्रसाद उपस्थित रहे. 


राज्य सभा सांसद अनिल अग्रवाल ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि  हमारा संविधान विश्‍व का सबसे लंबा लिखित संविधान है. मसौदा लिखने वाली समिति ने संविधान हिंदी, अंग्रेजी में हाथ से लिखकर कैलिग्राफ किया था और इसमें कोई टाइपिंग या प्रिंटिंग शामिल नहीं थी, संविधान के लागू होते ही समाज को निष्पक्ष न्याय प्रणाली मिली. नागरिकों को मौलिक अधिकारों की आजादी मिली और कर्तव्यों की जिम्मेदारी भी. इस अवसर पर कार्यक्रम के आयोजक अनुसूचित मोर्चा महानगर अध्यक्ष सोमबीर फौजी आदि उपस्थित रहे.
कार्यक्रम के दौरान महानगर अध्यक्ष मानसिंह गोस्वामी, पूर्व नगर अध्यक्ष अमरदत्त शर्मा क्षेत्रीय पदाधिकारी कामेश्वर त्यागी,मिडिया प्रभारी प्रदीप चौधरी,  जिला महामंत्री दिनेश सिंघल प्रदीप चौहान नवनीत गुप्ता अनुसूचित मोर्चा के महानगर संयोजक सोमबीर फौजी आदि उपस्थित रहे.



Comments