दिल्ली में घटित आगजनी की घटना को दृष्टिगत रखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट

जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय ने अधिकारियों के साथ की आपात बैठक


ऐसी घटना जनपद में घटित ना होने पाए इसके लिए संबंधित अधिकारियों को कार्यवाही के दिए कड़े निर्देश


आवासीय कालोनियों में संचालित हो रही औद्योगिक इकाइयों को तत्काल बंद करने की करे कार्यवाही। अवैध रूप से संचालित कारखानों के कटेंगे विद्युत कनेक्शन। बिना एनओसी के किसी भी कारखाने को नहीं दिया जाएगा विद्युत कनेक्शन।



गाजियाबाद। दिल्ली में घटित आगजनी की घटना को लेकर जनपद गाजियाबाद का जिला प्रशासन अलर्ट पर है। जनपद में कहीं पर भी ऐसी घटना घटित न होने पाए इस उद्देश्य से जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय के द्वारा अपने कार्यालय कक्ष में संबंधित अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक करते हुए सभी को तत्काल प्रभाव से कार्रवाई सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने स्पष्ट किया है कि यदि कहीं पर भी आवासीय कालोनियों में घातक कारखाने संचालित हो रहे हैं। ऐसे प्रकरणों में नगर विकास, जीडीए, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड, उद्योग विभाग, श्रम विभाग तथा अन्य संबंधित अधिकारियों के द्वारा तत्काल अभियान चलाकर उन्हें बंद करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।


उन्होंने कहा कि जो औद्योगिक इकाइयां खतरनाक प्रकृति की हैं और अवैध रूप से संचालित हो रही हैं तथा वहां पर मानव सुरक्षा के सभी प्रबंध नहीं है। ऐसे खतरनाक प्रकृति के कारखानों के तत्काल विद्युत कनेक्शन काटने की कार्यवाही संबंधित अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित की जाए। जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय ने समीक्षा करते हुए पाया कि उद्योग विभाग से बहुत से कारखानों के द्वारा पंजीकरण किसी कार्य के लिए कराया गया है और वहां पर अन्य कार्य संचालित किया जा रहा है। जो आगजनी की घटना से खतरनाक प्रकृति का हो सकता है। ऐसे प्रकरणों में संबंधित अधिकारियों के द्वारा तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित की जाए और इसकी रिपोर्ट विद्युत विभाग को प्रेषित की जाए, ताकि उनके द्वारा संबंधित कारखानों के विद्युत कनेक्शन काटे जा सके।


जिला मजिस्ट्रेट ने स्पष्ट करते हुए विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उनके द्वारा नए उद्यमियों को विद्युत कनेक्शन जारी करते हुए सभी प्रकार की एनओसी प्राप्त होने के उपरांत ही उन्हें विद्युत कनेक्शन जारी करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय ने बैठक में प्रशासन, पुलिस, उद्योग विभाग, जीडीए, नगर निगम, प्रदूषण विभाग तथा अन्य संबंधित विभागीय अधिकारियों को इस संबंध में संयुक्त टीम बनाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि सही प्रकार से संचालित हो रहे कारखानों एवं उद्यमियों का किसी प्रकार का उत्पीड़न नहीं किया जाएगा और जो अवैध रूप से खतरनाक प्रकृति के कारखाने संचालित किए जा रहे हैं उनके विरूद्ध तत्काल प्रभाव से कठोर कार्रवाई संबंधित अधिकारियों के द्वारा की जाएगी।


जिलाधिकारी ने विद्युत सुरक्षा से संबंधित अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि उनके द्वारा भी विशेष अभियान संचालित करते हुए कारखानों का निरीक्षण किया जाए और यह तय किया जाए कि सभी उद्योगों में विद्युत सुरक्षा के सभी मानक पूरे किए गए हैं। इसी प्रकार उन्होंने फायर विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश देते हुए कहा कि उनके द्वारा भी एक एडवाइजरी जारी की जाए ताकि सभी कारखानों में आगजनी की घटनाओं से बचा जा सके।


इस बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह, अपर जिला मजिस्ट्रेट नगर शैलेंद्र कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन जेके शर्मा और अन्य संबंधित विभागीय अधिकारीगण शामिल रहे।


Comments