कैलाश मानसरोवर भवन निर्माण का कार्य आगामी 15 फरवरी तक किया जाएगा पूर्ण

उत्तर प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार पर्यटन एवं धर्मार्थ कार्य डॉ नीलकंठ तिवारी के द्वारा किया गया संबंधित प्रोजेक्ट का स्थल निरीक्षण


निर्माण एजेंसी के अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के दिए कड़े निर्देश


महत्वपूर्ण परियोजना में गुणवत्ता एवं मानकों का रखा जाएगा पूर्ण ध्यान


लापरवाही बरतने पर अधिकारियों के विरूद्ध होगी कार्यवाही



गाज़ियाबाद। उतर प्रदेश सरकार के महत्वपूर्ण कैलाश मानसरोवर भवन परियोजना को पूर्ण मानकों एवं गुणवत्ता के साथ तथा निर्धारित समय अवधि के भीतर पूरा कराने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार पर्यटन एवं धर्मार्थ कार्य डॉक्टर नीलकंठ तिवारी के द्वारा कैलाश मानसरोवर प्रोजेक्ट पर पहुंचकर स्थल निरीक्षण किया गया। ज्ञातव्य हो कि प्रदेश सरकार का यह बहुत ही महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है, जोकि 5799.56 लाख रुपए की लागत से तैयार किया जा रहा है। इस कार्य को शासन एवं सरकार की मंशा के अनुरूप पूर्ण कराने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री नीलकंठ तिवारी के द्वारा इस परियोजना का औचक रूप से निरीक्षण करते हुए निर्माण एजेंसी के अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देश देते हुए कहा है कि सरकार का यह बहुत ही महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है।



अतः इस कार्य में सभी अधिकारी तीव्र गतिशीलता के साथ कार्य पूर्ण कराते हुए इस परियोजना को आगामी 15 फरवरी तक प्रत्येक दशा में पूरा कराने की कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होंने अपने स्थल निरीक्षण के दौरान भवन में चल रहे निर्माण कार्य का बहुत ही गहनता के साथ निरीक्षण किया और मौके पर उपस्थित संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी प्रदान किए। प्रदेश सरकार के मंत्री नीलकंठ तिवारी ने निर्माण एजेंसी के अधिकारियों को स्पष्ट करते हुए दो टूक कहा है कि सरकार के इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में गुणवत्ता एवं मानकों से किसी भी स्तर पर समझौता नहीं होगा।


अतः समस्त कार्य पूर्ण गुणवत्ता एवं मानकों के साथ पूरा करने की कार्यवाही अधिकारीगण सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया है कि इस कार्य में यदि किसी स्तर पर गुणवत्ता एवं मानकों की अनदेखी की गई तो संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। उनके भ्रमण के दौरान निर्माण एजेंसी के अधिकारी गण, पर्यटन विभाग के अधिकारी गण तथा अन्य संबंधित अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।


Comments