कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई जिला स्तरीय पत्रकार स्थाई समिति की बैठक

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई जिला स्तरीय पत्रकार स्थाई समिति की बैठक।


समिति सदस्यों ने मजबूती से उठाए पत्रकार उत्पीड़न के मामले।



गाजियाबाद। पत्रकारों एवं जिला प्रशासन के मध्य सौहार्दपूर्ण संबंध स्थापित करने के उद्देश्य से जिला स्तरीय पत्रकार स्थाई समिति की बैठक सोमवार को जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह समिति के सदस्य के रूप में बैठक में मौजूद रहे।


इस अवसर पर जिलाधिकारी ने समिति सदस्यों द्वारा उठाए गए सभी बिंदुओं पर मजबूती से कार्रवाई किए जाने व अनुपालन किए जाने के आदेश समिति के संयोजक और पदेन सचिव जिला सूचना अधिकारी राकेश सिंह चौहान को दिए।
बैठक में संपादक हिंदी साप्ताहिक मोदीनगर बुलेटिन सच्चिदानंद पंत द्वारा जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय को अवगत कराया गया कि जनपद की तीनों तहसीलों के उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया जाए। जिसमें वह अपने स्तर से रोजाना समय निर्धारित करते हुए पत्रकारों से मिलने का समय निकालें। जिससे पत्रकारों एवं प्रशासन के बीच सौहार्दपूर्ण रिश्ते कायम हो और शासन को अधिक लाभ पहुंच सके।


अनाधिकृत सोशल मीडिया, वेब पोर्टल एवं चैनलों की वैधता/अवैधता के निर्धारण के मापदंडों पर चर्चा हुई। जिस पर जिलाधिकारी ने जिला सूचना अधिकारी को निर्देशित किया कि समिति के माध्यम से इस संदर्भ में शासन को पत्र भेजा जाए ताकि ऐसे कथित पत्रकारों पर अंकुश लगाया जा सके। बैठक में रोडवेज की बसों में मान्यता प्राप्त पत्रकारों के लिए आरक्षित सीटों पर कंडक्टरो द्वारा बैठने हेतु सीट न उपलब्ध कराए जाने एवं अपने आचरण और व्यवहार में उदासीनता के चलते मान्यता प्राप्त पत्रकारों को हो रही समस्याओं पर जिलाधिकारी ने निर्देशित किया। और कहा कि क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी रोडवेज इसका संज्ञान लेते हुए बसों में आरक्षित मान्यता प्राप्त पत्रकारों की सीटों पर आरक्षित सीट लिखवाए एवं अपने स्तर से कंडक्टरो एवं वाहन चालकों को सामान्य व्यवहार रखने के लिए प्रशिक्षित करें।


बैठक में दैनिक पायनियर अंग्रेजी समाचार पत्र के प्रतिनिधि एस पी सिंह द्वारा पत्रकार दीपक तोमर पर हुए हमले को लेकर जिला अधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया गया कि भविष्य में पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर प्रशासन एवं पुलिस के द्वारा सहयोग मिलता रहे, जिससे पत्रकार निष्पक्षता के साथ कार्य करते रहें। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस पर उन्हें आश्वस्त कराया कि पुलिस एवं प्रशासन अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए आगे ऐसी बड़ी और अप्रिय घटनाओं को रोकने में सक्षम है। इसी क्रम में एस पी सिंह द्वारा अवगत कराया गया कि टाइम्स ऑफ इंडिया के वरिष्ठ पत्रकार ललित कुमार की हालत बहुत नाजुक है और वह अस्वस्थ हैं। अतः मीडिया में अपना भरसक योगदान देने वाले के लिए प्रशासन की तरफ से उनकी जरूरत पर कोई योगदान होना चाहिए। जिसपर जिलाधिकारी ने जिला सूचना अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि उनके माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखें कि वरिष्ठ पत्रकार ललित कुमार के घर डॉक्टरों की टीम भेजकर जांच एवं उपचार कराएं। साथ ही उन्होंने जिला सूचना अधिकारी को यह भी निर्देशित किया कि वह स्वयं मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लें और मानवता रखते हुए हर संभव मदद पहुंचाई जाए।


Comments