महिला प्रकरणों में पुलिस के स्तर पर लम्बित शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये
सभी अधिकारियों को महिला मामलों में सवेंदनशीलता से कार्य करने के निर्देश दिये गये।


 

गाजियाबाद। सोमवार को उ0प्र0 राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्षा सुषमा सिंह द्वारा पी0डब्लू0डी0 गैस्टहाउस गाजियाबाद में महिला उत्पीड़न के प्रकरणों में समीक्षा बैठक की गई। सर्वप्रथम उपाध्यक्षक महोदया ने अपने वाटसप नं0 - 6306511708 एवं उत्तर प्रदेश महिला आयोग की ईमेल आईडी सभी उपस्थित अधिकारियों को नोट करायी गई। उन्होंने बताया कि वाट्सऐप नं0 पर कोई भी महिला किसी भी समय अपनी शिकायत भेज सकती है। 

शिकायत के साथ अपनी आईडी भी भेजनी जरूरी होती है। उन्होंने महिला प्रकरणों में महिला थाने से आई उपनिरीक्षक सुनीता राणा से महिलाओं की शिकायतों की जानकारी ली और महिला प्रकरणों में पुलिस के स्तर पर लम्बित शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए और रानी लक्ष्मीबाई महिला एवं बाल सम्मान कोष के बारे में भी पुलिस के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि पात्र पीड़िता योजना से लाभान्वित होनी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि उपनिरीक्षक अजय कुमार को जनपद के सभी थानों में रानी लक्ष्मीबाई महिला एवं बाल सम्मान कोष के विषय में जानकारी उपलब्ध कराएं एवं सभी थानों को योजना के लाभ के लिए आवश्यक कार्यवाही पूर्ण कर पोर्टल पर एफ0आई0आर0 अपलोड करने में लापारवाही न बरती जाए।

बैठक में उपस्थित स्वास्थ्य विभाग से आई डा0 माला शर्मा ने बताया कि ऐसी पीड़िताओं की जांच समय से हमारे स्तर पर कोई भी लापारवाही नहीं बरती जाती है। मा0 उपाध्यक्ष ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को महिला मामलों में सवेंदनशीलता से कार्य करने के निर्देश दिए गए। समीक्षा बैठक में शशी वार्ष्णेय जिला कार्यक्रम अधिकारी निधि मलिक , सेटर मैनेजर, वन स्टॉप सेंटर, जितेन्द्र कमार संरक्षण अधिकारी, नेहा वालिया प्रभारी महिला कल्याण अधिकारी एवं महिला शक्ति केन्द्र, जिला समन्वयक मनीषा चौधरी महिला शक्ति केन्द्र, बाल कल्याण समिति के सदस्य डा० मधुरानी व वन्दना मित्तल, सुनीता राणा उपनिरीक्षक महिला थाना, समाज कल्याण विभाग से रंजन, दिग्व्यांग जन कल्याण विभाग प्रतिभा सिंह, स्वास्थ्य विभाग से डा0 माला शर्मा, सेवा योजना से मनीषा अत्री, उपनिरीक्षक अजय कुमार व अन्य अधिकारी मौजूद रहें ।

Comments