मुरादनगर पालिका परिषद में एसपी देहात नीरज कुमार जादौन के नेतृत्व में शांति व्यवस्था को लेकर सभा का आयोजन 

मुरादनगर पालिका परिषद में एसपी देहात नीरज कुमार जादौन के नेतृत्व में शांति व्यवस्था को लेकर सभा का आयोजन

 

मुरादनगर। नगर पालिका परिषद में बुधवार को एसपी देहात नीरज कुमार जादौन, अंशु जैन व एसओ मुरादनगर ओपी सिंह के नेतृत्व में नागरिकता कानून के विषय पर क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने को लेकर एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें क्षेत्र के सभी सम्मानीय व्यक्ति आए और उन्होंने अपने अपने विचारों को रखकर क्षेत्र के लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की।




गौरतलब हो कि मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन अधिनियम कानून लागू किया है। जिसमें पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए अल्पसंख्यक हिंदू, पारसी, जैन, बौद्ध, सिक्ख और इसाई प्रवासी को अवैध नहीं माना जाएगा और उनको भारत की नागरिकता मिलेगी। इस कानून को लेकर भारत के लोगों में जगह-जगह जन आक्रोश है और  जगह-जगह आगजनी हो रही है। जिससे क्षेत्र में धारा 144 लगाई गई है। इसी सिलसिले में यह सभा आयोजित की गई।

सभा में आए गोपाल अग्रवाल ने अपने विचार रखते हुए कहा कि यदि किसी व्यक्ति को इस कानून का विरोध करना है तो अपनी बात शांतिपूर्वक रखें। ताकि सरकारी संपत्ति को नुकसान ना पहुंचे। सुभाष त्यागी ने कहा कि "मैंने अपने 50 साल के अनुभव में इस क्षेत्र में किसी भी छोटी बड़ी बात पर आपसी झगड़ा नहीं देखा। दोनों समुदाय के लोग प्रेम और आपसी भाईचारे से रहते हैं। यहां हिंदू-मुस्लिम आपसी सौहार्द बना कर रहते हैं। यदि कोई दूसरे देशों से हमारे हिंदुस्तान में आता है तो उसको नागरिकता मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि विरोध करने का एक तरीका होता है। पत्थरबाजी और आगजनी विरोध का तरीका नहीं होता, जिस तरह दिल्ली में हो रहा है। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता फारूक चौधरी ने कहा कि हिंदू ही नहीं वहां से आए मुसलमान को भी भारत की नागरिकता मिलनी चाहिए। क्षेत्र में कोई आपस में नहीं लड़ेगा और शांति बनाए रखेगा। सबके लिए एक जैसा कानून होना चाहिए। वहीं विनोद धनकर ने कहा कि बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे अत्याचार और उनके अधिकारों के हनन के लिए हमारी सरकार कुछ करना चाहती है तो इसमें कोई बुराई नहीं है। भूरे चौधरी ने सभी लोगों से अपील की और कहा कि यहां लोकतंत्र है और लोकतंत्र में सभी लोगों की अपनी बात रखने का अधिकार है। लेकिन जो भी इस कानून का विरोध करें शांतिपूर्वक अपनी बात रखें। सभा में मौजूद पंकज गर्ग ने कहा कि सभी लोगों से मेरा निवेदन है कि एसडीएम और डीएम को शांतिपूर्वक ज्ञापन देकर अपनी बात रखें। ताकि क्षेत्र में शांति बनी रहे इससे हमारा नुकसान ही बचेगा।

गौरव शर्मा ने कहा कि कुछ अनपढ़ लोगों का काम होता है, यह जो अराजकता फैला रहे हैं। विरोध के तरीके से विरोध करें। धरना दें, भूख हड़ताल करें और अंतिम हथियार है कि अपना मतदान का सही प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि मैं इसका विरोध करता हूं। जो भ्रम फैलाया जा रहा है वह गलत है। जिसको इस कानून की जानकारी नहीं है, वही इसका विरोध कर रहा है। क्षेत्र में हमेशा शांति बनी रही है और आगे भी बनी रहेगी। ज्ञानेंद्र सिंघल ने कहा कि हिंदू - मुस्लिम पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। आपस में सौहार्द बना कर रहें।

मुरादनगर के चेयरमैन विकास तेवतिया ने सभा में सभी सम्मानित नागरिकों से कहा कि हमें सरकार पर भी यकीन रखना चाहिए।क्योंकि हमने उन्हें वोट दी है। प्रत्येक व्यक्ति को समझना चाहिए कि कौन से बटन से लाइट जलेगी। हमारा मुरादनगर क्षेत्र शांति प्रिय है। वह शांति ही बनाए रखेगा। नगर पालिका परिषद की ईओ निहारिका ने कहा कि व्हाट्सएप पर cab के स्टेटस लगा रहे हैं कि "मैं इसके विरोध में हूं" और "मैं इसके सपोर्ट में हूं" जो कि गलत है। अगर यह ना कह कर विरोध करना है तो कहो कि "मैं भारतीय हूं" तो अच्छा लगेगा। सीओ अंशु जैन ने कहा कि इस बिल के खिलाफ विरोध करें तो शांति पूर्वक करें। अगर किसी ने क्षेत्र में तोड़फोड़ आगजनी की तो प्रशासन उनके खिलाफ कड़ा एक्शन लेगा। अपना सहयोग दें और शांति बनाए रखें।

 


 

अंत में एसपी देहात नीरज कुमार यादव ने सभी लोगों को नागरिकता कानून के बारे में समझाते हुए बताया कि इस एक्ट से हिंदुस्तान में रहने वाले किसी भी नागरिक पर फर्क नहीं पड़ेगा। संसद लोकसभा और विधानसभा ने यह कानून पास किया है। यह भारत का कानून है। इसको सही गलत का फैसला सुप्रीम कोर्ट करेगा। एनआरसी का इस कानून में कहीं भी उल्लेख नहीं है। कोई भी व्यक्ति किसी भी बहकावे में ना आए। एक्ट को अच्छी तरह समझ लें। सभी लोग पढ़े - लिखे हैं। क्षेत्र में शांति बनाए रखें। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से गुज़ारिश की है कि क्षेत्र में धारा 144 लगी हुई है। कृपया सभी लोग शांति का परिचय दें और सोशल मीडिया की अफवाहों पर ध्यान ना दें। सभा में राकेश गोयल नारद, गोपाल कृष्ण अग्रवाल, पंकज गर्ग, भूरे चौधरी, फारुक चौधरी, तोहिद आलम, विनोद मिश्रा, बॉबी पंडित, विनोद जिंदल, अरविंद भारतीय, सोनू त्यागी, विकास त्यागी, बिंदु त्यागी, सुशील गोस्वामी, मास्टर इकबाल, नेताजी आस मोहम्मद आदि लोग उपस्थित रहे।




 


 

Comments