केवल योग 30 मिनट  योग से करें माइग्रेन का उपचार 

केवल योग 30 मिनट, योग से करें माइग्रेन का उपचार 



 

शिखा धामा

 

माइग्रेन एक प्रकार का सर दर्द है जो अक्सर हमारे सिर के एक ओर होता है। माइग्रेन की समस्या हल्की सी आवाज,  सूंघ या उल्टी आने से भी होती है। 

 

माइग्रेन के लक्षण 

 

इस बीमारी में मनुष्य के हमेशा सिर में दर्द की समस्या बनी रहती है। इस बीमारी में मुख्यतः निम्नलिखित लक्षणों का सामना करना पड़ता है। जैसे ----

 

इस में दर्द सिर के हिस्से में शुरू होकर किसी भी हिस्से तक जा सकता है।

 

सिर के कौन से हिस्से में होगा यह भी नहीं पता होता।

 

शारीरिक अभ्यास में भी यह दर्द बना रहता है।

 

दैनिक दिनचर्या भी मनुष्य दर्द के कारण ढंग से नहीं कर पाने में असमर्थ होता है।

 

इस बीमारी के दौरान मरीज को हमेशा कमजोरी, चिड़चिड़ापन, उल्टी आना, जी मिचलाना, जी घबराना आदि महसूस होता है।

 

ऐसी परिस्थिति में मरीज को किसी भी प्रकार की आवाज में, लाइट से भी चिड़चिड़ापन महसूस होता है। इसलिए वह अंधेरे कमरे में अकेला रहना पसंद करने लगता है।

 

कुछ लोगों को दूसरे लक्षणों का सामना भी करना पड़ता है। जैसे---

शरीर का तापमान बढ़ जाना, पसीना आना, पेट दर्द होना या डायरिया आदि की समस्या।

 

माइग्रेन हेतु निदान 

 

माइग्रेन के निदान हेतु कोई एक उपचार तो संभव नहीं है लेकिन दैनिक दिनचर्या में बदलाव कर काफी हद तक इस समस्या से निजात पाई जा सकती है। जैसे---- 

 

नियमित 8 घंटे की नींद लेकर स्ट्रेस को कम करके।

पानी का खूब सेवन करके।

जंक फूड का त्याग करके।

नियमित व्यायाम करके आदि।

योग एक पौराणिक माध्यम है स्वयं को तनाव से दूर रखने का। योग में विभिन्न प्रकार का आसन व प्राणायाम के द्वारा आप इस माइग्रेन की समस्या से बहुत हद तक निजात पा सकते हैं। रोजाना केवल कुछ ही मिनटों के अभ्यास से आपको तनाव रहित महसूस होगा और ना ही इसका कोई साइड इफेक्ट होता है।

 

माइग्रेन की समस्या के निवारण हेतु आप निम्न आसनों का अभ्यास कर सकते हैं। जैसे -- 

शवासन

पद्मासन 

हस्त पादासन 

अधोमुखासन 

पश्चिमोत्तर आसन 

शंशाक आसन

सेतुबंध आसन आदि।

इन आसनों के अभ्यास से ना केवल यह समस्या कम होगी बल्कि आपको पूर्ण रूप से माइग्रेन की समस्या से निजात भी मिल सकती है। इसके अतिरिक्त ऐसे व्यक्ति कुछ प्राणयामों का भी अभ्यास कर सकते हैं। जैसे --- 

 

अनुलोम - विलोम प्राणायाम 

भ्रामरी प्राणायाम 

शीतली प्राणायाम 

उपरोक्त प्रणायाम आपके शरीर को शीतलता प्रदान कर दिमाग को तनाव रहित बनाते हैं।

Comments