हड़ताल के दौरान कार्य करने पर अधिवक्ता को बार एसोसिएशन ने दिया कारण बताओ नोटिस

हड़ताल के दौरान कार्य करने पर अधिवक्ता को बार एसोसिएशन ने दिया कारण बताओ नोटिस


गाज़ियाबाद। गौरतलब हो कि वकीलों और प्रशासन के बीच कैंटीन पुस्तकालय विवाद चल रहा है। जिसको लेकर सभी अधिवक्तागण अपने कार्य से विरत होकर हड़ताल पर बैठे हुए हैं। लेकिन इस बीच एक ऐसा कार्य सामने आया जिसको लेकर बार एसोसिएशन ने हड़ताल के दौरान कार्य करनेेेे वाले अधिवक्ता को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।



अधिवक्तागण की चैंबर्स कैंटीन व अन्य मुद्दों के कारण न्यायिक कार्य से विरत थे। अपने किसी अभियुक्त की अंतरिम जमानत करने के लिए बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनील दत्त त्यागी से गलतफहमी में अनुमति लेकर प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश के न्यायालय में बहस करने हेतु प्रस्तुत होकर काम करने का प्रयास किया। जिसका अधिवक्ता गण ने काफी विरोध किया।उसके बाद अध्यक्ष को न्यायालय से वापस लेकर आए तथा उक्त प्रकरण में 10 फरवरी को  सुनवाई के वास्ते नियत होने पर उनको बार एसोसिएशन के द्वारा गठित कमेटी तथा अध्यक्ष द्वारा उक्त प्रकरण में पेश ना होने का अनुरोध करने पर भी न्यायालय में उपस्थित होकर बहस की।


जिससे बार की एकता व मजबूती को हानि हुई जबकि समस्त अधिवक्तागण न्यायिक कार्य से विरत थे। बार एसोसिएशन ने नोटिस में लिखा कि अध्यक्ष का यह कार्य अनुशासनहीनता की श्रेणी का है। यूं तो 10 फरवरी में आम सदन की सभा में अध्यक्ष बार एसोसिएशन द्वारा अनुमति प्रदान करने की गलती स्वीकार करके माफी मांग ली है। लेकिन बार एसोसिएशन ने इस नोटिस का जवाब स्पष्टीकरण सहित तीन दिन में मांगा है।  जिससे अध्यक्ष के विरुद्ध बार एसोसिएशन गाजियाबाद द्वारा अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाए।


Comments