कस्तूरबागांधी की पुण्यतिथि पर किया गया नारी शक्ति को सलाम

कस्तूरबा गांधी की पुण्यतिथि से महिला उत्थान की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से संचालित किया जाएगा पकवाड़ा


कस्तूरबा गांधी जी की पुण्यतिथि नारी शक्ति को समर्पित करते हुए जिला प्रशासन के द्वारा किया गया अविरल प्रयास



गाजियाबाद। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष पर जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय के निर्देशन में जिला प्रशासन द्वारा उनके जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं को लेकर कार्यक्रमों का श्रृंखला मे आयोजन कर रहा है। इसी कड़ी में आज महात्मा गांधी की धर्मपत्नी कस्तूरबा गांधी की पुण्यतिथि पर लोहिया नगर स्थित हिन्दी भवन में नारी शक्ति को समर्पित कार्यक्रम का आयोजन किया गया।



जिलाधिकारी के नेतृत्व में महात्मा गांधी जी के जीवन से जुड़ी हुई 12 महत्वपूर्ण घटनाओं जो प्रत्येक महीने की अलग-अलग तिथियों पर गठित हुई हैं उनको चिन्हित कर कैलेंडर के रूप में तैयार किया गया है। इसके  अनुसार‌ 22 फरवरी की तिथि इस विषय पर अत्यंत महत्वपूर्ण मानी जा रही है। क्योंकि 22 फरवरी को  कस्तूरबा गांधी जी का देहांत हुआ था। कस्तूरबा गांधी की पुण्यतिथि पर नारी शक्ति एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसका शुभारम्भ जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय, सीडीओ अस्मिता लाल, आईआरएस शिखा दरबारी, डीपीओ विकास चंद्र, परियोजना निदेशक पीएन दीक्षित ने कस्तूरबा गांधी व महात्मा गांधी की तस्वीर पर माल्यापर्ण कर किया।



इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि बापू के आदर्श व सिद्घांत हमेशा से ही प्रेरणादायी रहे हैं, लेकिन उनके आंदोलनों की सफलता, सिद्घांत के पीछे कस्तूरबा गांधी की भी बड़ी भूमिका थी। गांधीजी के सिद्धांतों की प्रासंगिकता आज के सामाजिक परिवेश में उतनी ही है, जितनी आज से सौ साल पहले थी। उन्होंने उपस्थित स्कूली बच्चों एवं महिलाओं को कस्तूरबा गांधी के जीवन के बारे में विस्तार से बताया, तो वहीं महिला अधिकार की जानकारी भी दी।



उन्होंने‌ बताया‌ कि नारी शक्ति एवं सम्मान को समर्पित पखवाड़ा दिनांक 22 फरवरी 2020 से 8 मार्च 2020 तक मनाया जाएगा। इस दौरान विभागों में महिलाओं से संबंधित चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी प्रदान की जाएगी। जिसके मूल्यांकन 8 मार्च को किया जाएगा जिससे अच्छा कार्य करने वालो को समनानित भी किया जाएगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि महिलाओं से जुड़ी विभिन्न सरकारी योजनाओं को 22 फरवरी से प्रारंभ करके 8 मार्च 2020 तक एक अभियान चलाकर महिलाओं को लाभान्वित करने का कार्य किया जाएगा।



उन्होंने बताया कि 22 फरवरी से सभी कस्तूरबा गांधी विद्यालयों का नियमित निरीक्षण करा कर उनका आधारभूत ढांचा सुधारने का अभियान शुरू किया जाएगा‌ उन्होंने कहा कि महिलाओं के उत्थान के लिए महिला चिकित्सालय एवं अस्पतालों, नारी निकेतन ग्रहो, महिला आयोग से प्राप्त महिला संबंधी मामलों के निस्तारण, विभिन्न न्यायालयों में महिला संबंधी अपराधों के निस्तारण जैसी महत्वपूर्ण योजनाओं एवं समस्याओं का नियमित रूप से अनुश्रवण सुनिश्चित कराया जाएगा।



इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल ने बताया कि कस्तूरबा गांधी ने महात्मा गांधी द्वारा किए गए आंदोलनों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, वह उनके लिए जेल भी गई और वहीं उनकी मृत्यु भी हुई थी। उन्होंने महिलाओं की उनकी शक्ति से परिचित कराने का काम किया था और उनमें समाजिक चेतना के लिए भी जागरूक किया। जिला प्रोबेशन अधिकारी विकास चंद्र ने महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं की जानकारी प्रदान की। तो वहीं मुरादनगर कस्तूरबा विद्यालय की छात्राओं ने कैसे आत्मरक्षा करें इसका प्रदर्शन किया। छात्रा मंतशा ने कस्तूरबा गांधी के जीवन की विस्तार से जानकरी दी। कस्तूरबा विद्यालयों के छात्रों ने इस अवसर कस्तूरबा गांधी के जीवन से प्रेरित सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।


कार्यक्रम का संचालन शिक्षा विभाग की पूनम शर्मा ने किया। इस अवसर पर महिला अस्पताल की सीएमएस डॉ.दीपा त्यागी, जिला कार्यक्रम अधिकारी शशि वाष्र्णेय, डी0पी0आर0ओ0 ए0के त्रिपाठी,  खंड शिक्षा अधिकारी पवन भाटी, स्वच्छता कोर्डिनेटर मौ.फारूख, गौरव त्यागी, लोकेन्द्र सिंह सहित विभिन्न स्कूलों के शिक्षक व आंगनबाड़ी कार्यकत्री उपस्थित रहीं।


Comments