किसान मजदूर आंदोलन के दौरान हुए मुकदमे वापस लेने के लिए पंचायत कर दिया ज्ञापन
किसान मजदूर आंदोलन के दौरान हुए मुकदमे वापस लेने के लिए पंचायत कर दिया ज्ञापन

 

मुरादनगर। बसपा एवं सपा के समय में जो किसान मजदूर आंदोलन के दौरान जो मुकदमे हुए थे उनको वापस लेने हेतु शुक्रवार को गाजियाबाद में भारतीय किसान लोक शक्ति की पंचायत का प्रदेश सचिव केशव चौधरी के नेतृत्व में अयोजन हुआ। इस पंचायत में प्रदेश मीडिया प्रभारी बीएल शर्मा, प्रदेश महासचिव धीरज चौधरी, युवा प्रदेश मंत्री गौरव यादव ने भी शिरकत की। जिसमें किसानों की समस्याओं व कई बिंदुओं पर चर्चा की गई।


भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश सचिव केशव चौधरी ने मुख्य रूप से मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश और कानून मंत्री उ०प्र० सरकार व मुख्य सचिव उ०प्र० ने डीजीपी उ०प्र० पुलिस को गाजियाबाद जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन दिया। जिसमें मुख्य रूप से बीएसपी एवं सपा कार्यकाल में जो मुकदमे हुए हैं, उनको हटाने की मांग भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति द्वारा की जा रही है, जो कि समस्त उत्तर प्रदेश में आंदोलन किया जा रहा है।


 

क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकाल में जो मुकदमे लगे थे उन सभी को वापस ले लिया गया लेकिन बीएसपी एवं सपा के कार्यालय में किसान आंदोलन के जो मुकदमे हुए हैं, वह अभी तक वापस नहीं हुए हैं। भाकयू लोक शक्ति यह आग्रह करती है कि तत्काल प्रभाव से किसानों पर व किसान संगठनों पर लगे मुकदमे वापस ले जो किसान हित में।

इस मौके पर प्रदेश मीडिया प्रभारी बीएल शर्मा ने कहा उत्तर प्रदेश सरकार मुकदमे वापस नहीं लिये तो भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति धरना प्रदर्शन के लिए विवश होगी जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

गौरव यादव प्रदेश सचिव ने कहा किसान वैसे ही बहुत परेशान हैं और फिर भी सरकारी किसानों पर मुकदमे करके  उनका शोषण किया जा रहा है।

मुख्य रूप से शामिल धीरज चौधरी युवा प्रदेश, महासचिव रुपेश त्यागी, प्रदेश सचिव संगीता चौधरी, महिला जिलाध्यक्ष शिव ओम, नगर युवा जिला अध्यक्ष सतीश नागर, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष राहुल त्यागी, मण्डल उपाध्यक्ष हिमांशु त्यागी,  जिला महासचिव करण चौधरी, जिला सचिव दीपक यादव, युवा विधानसभा अध्यक्ष राजीव गुप्ता व अन्य सैकड़ों कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Comments