स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी /जिला स्वच्छता समिति गाजियाबाद की बैठक का आयोजन

स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी /जिला स्वच्छता समिति गाजियाबाद की बैठक का आयोजन



गाज़ियाबाद। जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय ने  संबंधित अधिकारियों  को निर्देशित करते हुए कहा कि  राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन ग्रामीण एवं शहरी  सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है। अतः समस्त संबंधित अधिकारियों के द्वारा राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन कार्यक्रम को अपने-अपने स्तर पर सरकार की मंशा के अनुरूप संचालित करते हुए जनसामान्य को लाभ पहुंचाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने दो टूक कहा है कि इस कार्य में किसी भी स्तर की शिथिलता को बहुत ही गंभीरता के साथ लेकर दोषी अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। जिलाधिकारी जिला स्वच्छता समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्ट्रेट के सभागार में अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान कर रहे थे।


बैठक में जिला पंचायत राज अधकारी अनिल कुमार त्रिपाठी ने अवगत कराया कि जनपद को पूर्व में 2017 में ही खुले में सोच मुक्त कर लिया गया है। खुले में शौच मुक्त की स्थिरता को बनाए रखने के लिए ओडीएफ प्लस की गतिविधि सॉलि़ड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट एवं माहवारी स्वच्छता प्रबंधन पर चर्चा की गई साथ ही प्रत्येक ग्राम पंचायत में दो सामुदायिक शौचालय का निर्माण आगामी 15 मार्च तक किए जाने पर चर्चा की गई जिसमें प्रथम सामुदायिक शौचालय का निर्माण अनुसूचित जाति जनजाति बाहुल्य ग्राम पंचायतों में जिसमें 180000 भारत सरकार द्वारा जारी परफॉर्मेंस ग्रांट फंड एवं 20000 रुपए ग्राम पंचायत अंश से निर्मित किया जाएगा। साथ ही द्वितीय सामुदायिक शौचालय का निर्माण राज्य एवं 14 वित्त की धनराशि से ग्राम पंचायत द्वारा किया जाएगा।


भारत सरकार से प्राप्त धनराशि से निर्मित  सामुदायिक शौचालय हेतु कार्यदाई संस्था के द्वारा किया जाएगा दित्तीय सामुदायिक शौचालय का निर्माण ग्राम पंचायत स्तर से किया जाएगा जिसमें ग्राम पंचायत ही कार्य संस्था के रूप में कार्य करेंगी। बैठक में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय द्वारा निर्देशित किया गया प्रत्येक विकासखंड में 2 से 5 ग्राम पंचायतों में सॉलि़ड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट के अंतर्गत समस्त संबंधित कार्यों को आगामी एक माह में पूर्ण कराते हुए मॉडल ग्राम पंचायत के रूप में विकसित करेंगे जिसमें मुख्य रूप से डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन, सूखा एवं गीला कूड़ा का पृथक्करण, जैविक खाद का निर्माण, लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट के अंतर्गत गिरे एवं ब्लैक वाटर का पृथक्करण एवं उसका ट्रीटमेंट करते हुए अवगत कराएंगे। साथ ही अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देशित किया गया कि जिन ग्राम पंचायतों में पाइप लाइन वाटर सप्लाई उपलब्ध उपलब्ध है ग्राम पंचायतों में सुचारू रूप से वाटर सप्लाई का कार्य पूर्ण कराएं साथ ही जल जीवन मिशन के अंतर्गत दिए गए निर्देशों के अनुपालन में ग्राम पंचायत विकासखंड स्तर एवं जनपद स्तर पर ग्राम प्रधानों ग्राम पंचायत सचिवों की बैठकों का आयोजन कराएं तथा जल जीवन मिशन योजना अंतर्गत समस्त कार्य निर्धारित समयावधि में पूर्ण कराते हुए अवगत कराएं। जनपद में संचालित आंगनवाड़ी केंद्रों में बेबी फ्रेंडली टॉयलेट रनिंग वाटर सप्लाई मल्टीपल हैंडवाशिंग सिस्टम इत्यादि का कार्य पूर्ण करा लें।


बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि जनपद के ग्रामीण अंचल में संचालित समस्त विद्यालयों में पंचायती राज के सहयोग से बालक एवं बालिका हेतु पृथक पृथक टॉयलेट शौचालय रनिंग वाटर सप्लाई एवं मल्टीपल हैंड वाशिंग के साथ-साथ किचन शेड किचन गार्डन एवं संबंधित मूलभूत सुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुए 31 मार्च 2020 से पूर्व पूर्ण कराना सुनिश्चित करेंगे। किसी भी कार्य में शिथिलता के लिए संबंधित विभाग का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, परियोजना निदेशक डीआरडीए पीएन दीक्षित, जिला विकास अधिकारी भालचंद्र त्रिपाठी तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया। बैठक का संचालन जिला पंचायत राज अधिकारी के द्वारा किया गया।


Comments