वहाब की दावत चर्चाओं में भीम आर्मी चंद्रशेखर रावण के पहुंचने से

       वहाब की दावत चर्चाओं में


भीम आर्मी चंद्रशेखर रावण के पहुंचने से 



मुरादनगर। बहुजन समाजवादी पार्टी से विधायक रहे वहाब चौधरी के परिवार में निकाह की दावत आजकल चर्चाओं में है। चर्चा दावत में खाने-पीने आव भगत करने को लेकर नहीं है बल्कि इस बात को लेकर है कि इस दावत में पूर्व में बसपा में रहे बड़े पदाधिकारी विधायक को चेयरमैन और जिला पंचायत सदस्यों, जिला पंचायत अध्यक्ष व चंद्रशेखर रावण की भीम आर्मी के तमाम पदाधिकारी तो मौजूद रहे ही, खुद इस दावत में शिरकत करने जब भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर उर्फ रावण मुरादनगर आ पहुंचे और कार्यक्रम में जिस गर्म जोशी के साथ बसपा नेताओं ने उनका स्वागत किया, वही दावत में मौजूद हर कोई चंद्रशेखर रावण के साथ सेल्फी लेने के लिए उतावला दिखा। हालात यह हो गए कि दूल्हा एक और बैठा रह गया। पूरी बारात जिसमें की अधिकांश क्षेत्र के पूर्व विधायक वहाब चौधरी के बुलाए हुए यहां पहुंचे थे और उन सबका चंद्रशेखर रावण के प्रति समर्पण आने वाले समय में बहुजन समाजवादी पार्टी के लिए अच्छा संकेत नहीं है।


चर्चा यह है कि निकाह की दावत तो एक बहाना था बसपा प्रताड़ित व भीम आर्मी की ओर आशा की निगाह से देखने वालों को इस दावत के बहाने मिलाने का इंतजाम किया गया था। माहौल ऐसा लग रहा था कि जैसे निकाह की दावत ना होकर किसी राजनीतिक पार्टी का बड़ा सम्मेलन चल रहा हो। कहने के लिए तो वहाब चौधरी फिलहाल बसपा से निष्कासित चल रहे हैं। उनके कार्यक्रम में इतनी बड़ी संख्या में भीम आर्मी वाले और खुद चंद्रशेखर रावण और बसपा के कद्दावर नेता मौजूद रहने से इस कार्यक्रम के राजनीतिक क्षेत्रों में भी कई कयास लगने शुरू हो गए हैं। वहाब चौधरी को बहन मायावती ने एक बार पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा कर दोबारा चेयरमैन पद चुनाव लड़ने के समय पार्टी में शामिल कर लिया था।


लेकिन फिर दोबारा से उन्हें बाहर का रास्ता दिखला दिया। समर्थक भी अब विकल्प ढूंढने लगे हैं। यही कारण है कि अब बसपा में उपेक्षित लोग भीम आर्मी में अपना भविष्य तलाश कर रहे हैं। इस कार्यक्रम के पीछे विधायक वहाब चौधरी के छोटे भाई और भीम आर्मी के कार्यकारिणी सदस्य निजाम चौधरी की भूमिका महत्वपूर्ण कही जा सकती है। वह लंबे अरसे से चंद्रशेखर रावण से जुड़े हुए हैं। चर्चा इस बात को लेकर है कि यदि दावत में शामिल पश्चिमी पूर्वी उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ बसपा नेता चंद्रशेखर की भीम आर्मी में शामिल हो गए तो इस क्षेत्र से बसपा का सूपड़ा साफ होने के हालात बन सकते हैं।


Comments