वकीलों व प्रशासन के बीच चल रहा है कैंटीन पुस्तकालय विवाद

वकीलों व प्रशासन के बीच चल रहा है कैंटीन पुस्तकालय विवाद



मुरादनगर। गाजियाबाद की अदालत के वकीलों व प्रशासन के बीच कैंटीन पुस्तकालय विवाद चल रहा है। लेकिन उसकी चर्चाएं मुरादनगर तक पहुंच रही हैं। कारण है मुरादनगर के  बार एसोसिएशन के सचिव विजय गौड़, एडवोकेट विजय गौड़ मुरादनगर क्षेत्र के गांव ढिंडार के मूलनिवासी थे। लेकिन वह मुरादनगर में ही पले और बढ़े। यहीं रहकर वकालत की पढ़ाई पूरी की। विजय को जानने वाले कहते हैं कि वह बचपन से ही अपनी जिद के पक्के हैं। जिस कार्य को हाथ में ले  लेते हैं उसे पूरा कर कर ही दम लेते हैं।


बार एसोसिएशन गाजियाबाद के सचिव चुने जाने के बाद से ही विजय गौड़ सुर्खियों में बने हैं। ताजा विवाद गाजियाबाद में कैंटीन  पुस्तकालय को लेकर वकीलों व प्रशासन के बीच तनाव हो गया है। मुरादनगर के लोग भी यह जानने को उत्सुक दिखलाई देते हैं कि उनके बीच से  बार सचिव तक पहुंचे विजय गौड़ आखिर इस लड़ाई में इस मुकाम तक पहुंचते हैं। नए विवाद के बारे में विजय गौड़ का कहना है कि अपने साथियों की सुविधा हक के लिए उन्हें जो भी संघर्ष करना पड़ेगा करेंगे। गौड नेे एक भेंट में बताया कि कुछ अधिकारियों ने काम में रुकावट करने की कोशिश की है लेकिन जो काम गाजियाबाद बार एसोसिएशन ने प्रारंभ किया है वह पूरा होकर रहेगा। 


उन्होंने कहा है कि सबसे पहले मेरा अपना क्षेत्र है। इस क्षेत्र के लिए जो भी कर सकूंगा वह कर अपने क्षेत्र की सेवा करना मैं अपना पहला कर्तव्य मानता हूं। उन्होंने कहा कि हम प्रयास कर रहे हैं कि मुरादनगर क्षेत्र के लोगों को सस्ता न्याय उपलब्ध कराया जा सके। इसके लिए अपने साथ के  वकीलों से विचार विमर्श किया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि यदि प्रशासन ने बार एसोसिएशन के किसी कार्य में बाधा उत्पन्न की तो वह वकीलों को उत्तेजित करने वाली कार्यवाही मानी जाएगी, जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

Comments