गरीबों की लड़ाई के लिए आजाद समाज पार्टी आ रही है आगे - निजाम चौधरी
गरीबों की लड़ाई के लिए आजाद समाज पार्टी आ रही है आगे - निजाम चौधरी

 


 

मुरादनगर। दलित, अल्पसंख्यक, पिछड़ों व गरीब मजदूरों की लड़ाई सिर्फ आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण लड़ रहे हैं। बाकी पार्टियों ने आज तक इन वर्गों का अपने वोटों के रूप में इस्तेमाल कर उनका शोषण किया है। लेकिन राजनीति में चंद्रशेखर के आने के बाद से इन समुदायों की राजनीति करने वालों की असलियत लोगों के सामने आ गई है। इसलिए एक बड़ा जनसमर्थन आजाद समाज पार्टी को मिल रहा है। यह बातें आजाद पार्टी की राष्ट्रीय कोर कमेटी के सदस्य निजाम चौधरी ने यहां नवगठित पार्टी के कार्यकर्ताओं की विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं।

 


 

चंद्रशेखर रावण की राजनीतिक पार्टी की घोषणा के बाद मुरादनगर क्षेत्र में पार्टी की यह पहली कार्यकर्ता मीटिंग थी। रावली रोड पर खचाखच भरे मैदान में उमड़ी भीड़ को देखकर आयोजक भी गदगद दिखलाई दिए। यहां आयोजित कार्यक्रम में मुरादनगर ग्रामीण शहरी व अन्य क्षेत्रों से बड़ी संख्या में भीम आर्मी कार्यकर्ता जोशो खरोश के साथ एकत्र हुए और नई पार्टी को आगे ले जाकर समाज के आखिरी छोर तक के व्यक्ति की लड़ाई लड़ने का संकल्प लिया गया।

 


 

इस मौके पर उपस्थित जनसमुदाय ने आजाद समाज पार्टी की सदस्यता ग्रहण करते हुए चंद्रशेखर वह निजाम चौधरी का तन मन धन से साथ देने का प्रण लिया। चौधरी ने कहा कि माननीय कांशीराम ने यह सपना देखा था कि हमारा समाज सत्ता में भागीदारी हिस्सेदारी के हिसाब से करेगा। लेकिन बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने ने बाबा साहब के सपने को धूमिल कर दिया। इसी सपने को लेकर चंद्रशेखर आज़ाद राजनीतिक पार्टी लेकर जनता के बीच हैं कि वह काशीराम के अधूरे कार्यों को पूरे कर सकें। उन्होंने कहा कि लोग सवाल कर रहे हैं कि बहुजन समाज के लिए किसी दूसरी पार्टी के गठन की क्या आवश्यकता थी।

 


 

उन्होंने लोगों से ही सवाल किया कि आप सफर पर जा रहे हैं और वाहन खराब हो जाए उसके लिए वाहन बदलना या मरम्मत करना जरूरी हो जाता है। जो पार्टी कांशीराम ने इस वर्ग के उत्थान के लिए बनाई थी वह खराब हो चुकी है और उसमें पूर्व मुख्यमंत्री कोई मरम्मत करने के मूड में नहीं है। इसलिए नई पार्टी के गठन की आवश्यकता महसूस हुई और चंद्रशेखर ने जनता की आवाज पर उनके दुख दर्द दूर करने के लिए नई पार्टी का गठन किया है। उन्होंने कहा कि समाज हित पर दलित राजनीति के नाम पर दौलत बंटोरने वालों को अब जनता को दुत्कारना होगा। उनकी औकात बतानी होगी और यह आने वाला चुनाव सिद्ध कर देगा। उन्होंने कहा कि 85% बहुजन समाज आज पार्टी से जुड़ चुका है और अब केंद्र की सत्ता मैं भागीदारी का समय आ गया है। जिसे चंद्रशेखर के नेतृत्व में ही पूरा किया जा सकता है। उपस्थित जन समुदाय ने पार्टी के प्रचार प्रसार वह लोगों को जोड़ने का संकल्प लिया। इस अवसर पर संस्थापक कमेटी के सदस्य संजय जाटव, सुनील कोरी, रमेश चंद्र शाक्य, अनिल कोरी, इंतखाब कुरेशी, जमालुद्दीन मालू, सभासद फारुख कुरैशी, नवरत्न, असलम, नूरदीन, रियाज, वारसी, जुनैद, बाबू खान, शकील अंसारी, रईसुद्दीन,  सुशीला, शिमला, शकुंतला, संजय, रेवड़ी बिंदर प्रधान व सत्येंद्र शर्मा आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Comments