जनपद में एसटीपी के संचालन एवं अनुश्रवण के उद्देश्य से डीएम के निर्देश पर बनेगी उप समिति

जनपद के पर्यावरण को शुद्ध बनाने के उद्देश्य से कलेक्ट्रेट के सभागार में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में जिला पर्यावरण समिति की बैठक संपन्न


इसी प्रकार जल प्रदूषण फैलाने वाले कारखानों के संबंध में भी बनाई जाएगी उप समिति लाटरी के आधार पर संबंधित कारखानों का किया जाएगा स्थल निरीक्षण


जनपद के पर्यावरण को और अधिक शुद्ध बनाने के संबंध में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने विभागीय अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश



गाजियाबाद। जनपद के पर्यावरण को और अधिक शुद्ध एवं सुखद बनाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट के सभागार में जिला पर्यावरण समिति की महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। इस अवसर पर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने अपने उद्बोधन में अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि पर्यावरण की दृष्टि से जनपद गाजियाबाद अति संवेदनशील जनपद है। अतः समस्त संबंधित अधिकारियों का दायित्व और अधिक बढ़ जाता है कि जनपद के प्रदूषण को कम करने के उद्देश्य से अपने अपने स्तर पर अभियान चलाकर पर्यावरण को शुद्ध बनाने की कार्रवाई निरंतर रूप से सुनिश्चित की जाए।


इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कारखानों में प्रदूषण को रोकने के उद्देश्य से एसटीपी के संचालन एवं   अनुश्रवण के संबंध में एक उप समिति बनाने के निर्देश दिए हैं, जिसके माध्यम से कारखानों में स्थापित एसटीपी के संचालन एवं उनका अनुश्रवण किया जाएगा। इसी प्रकार जल प्रदूषण फैलाने वाले कारखानों के संबंध में भी जिलाधिकारी ने उप समिति बनाने के निर्देश दिए हैं। यह उप समिति लाटरी के आधार पर ऐसे कारखानों का निरंतर रूप से स्थल निरीक्षण करेगी जिनके द्वारा जल प्रदूषण के माध्यम से पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने की कार्यवाही की जा रही है उनकी जांच रिपोर्ट के आधार पर ऐसे कारखानों के विरुद्ध जिला प्रशासन कड़ाई के साथ कार्यवाही सुनिश्चित करेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि पर्यावरण को लेकर डिस्ट्रिक्ट मैनेजमेंट प्लान तैयार किया जाना अति आवश्यक है। अतः जिन विभागीय अधिकारियों द्वारा सूचना उपलब्ध नहीं कराई गई हैं वह तत्काल सूचना उपलब्ध कराएं ताकि यह कार्य शीघ्रता के साथ आगे बढ़ सके।


उन्होंने समीक्षा के दौरान पाया कि पीडब्ल्यूडी विभाग एवं विद्युत विभाग के द्वारा इस संबंध में अभी तक प्रशिक्षण प्राप्त नहीं किया गया है। उन्होंने आज ही प्रशिक्षण की कार्यवाही संपन्न कराने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने परिवहन विभाग एवं यातायात पुलिस को संयुक्त रूप से अभियान चलाकर प्रदूषण कम करने के निर्देश दिए हैं और कहा है कि यह कार्य जनपद में निरंतर रूप से संचालित किया जाए ताकि जनपद के पर्यावरण को और अधिक शुद्ध एवं सुखद बनाया जा सके।


जिलाधिकारी ने इस अवसर पर यह भी निर्देश दिए हैं कि विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी जनपद में जन सहभागिता के आधार पर अधिक से अधिक पौधारोपण कार्य संपन्न कराया जा सके इस उद्देश्य से सभी विभागीय अधिकारियों के द्वारा अभी से कार्य योजना बनाकर उसे अंतिम रूप प्रदान किया जाए ताकि जनपद में अधिक से अधिक पौधारोपण संभव हो सके और जनपद के पर्यावरण को मानकों के अनुसार शुद्ध बनाया जा सके। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में डीएफओ दीक्षा भंडारी, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड से उत्सव शर्मा तथा अन्य संबंधित अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।


Comments