प्रशासन ने फंसे हुए लोगों के लिए नजदीकी स्कूल कॉलेजों में की टहरने की व्यवस्था

प्रशासन ने फंसे हुए लोगों के लिए नजदीकी स्कूल कॉलेजों में की टहरने की व्यवस्था



मुरादनगर। कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए प्रशासन ने उन लोगों के लिए जो किसी तरह से अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पाए हैं और बीच रास्ते में हैं, उसके लिए प्रशासन ने असालत नगर स्थित पूर्ण ज्ञान अंजलि इंटर कॉलेज तथा गंग नहर के निकट स्थित हंस इंटर कॉलेज को लोगों के लिए ठहरने, खाने, रहने, नहाने, टॉयलेट आदि की पूर्ण सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। इस बारे में ए एस पी संदीप मीणा ने बताया कि यह दोनों जगह मुरादनगर क्षेत्र में शेल्टर होम बनाए गए हैं।
वहां पर प्रशासन की ओर से खाने रहने व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। मीणा ने कहा की जो लोग जहां पर हैं, वहीं पर नजदीकी स्थान पर ठहरे। सरकार ने स्थान स्थान पर ऐसे शेल्टर होम बनाए हैं। जहां लोगों की आवश्यकता की सभी चीजें उपलब्ध कराई  जाएंगी। उन्होंने बताया कि लोग परेशानी के कारण खाने-पीने के लिए सड़कों पर आ रहे हैं वह गलत है। स्वयंसेवी संगठनों को भी शेल्टर होम पर संपर्क कर वहां मौजूद अधिकारियों से, वहां की आवश्यकताओं के बारे में पूछ कर सहयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसी को भी नियम तोड़ने की किसी को अनुमति नहीं दी जाएगी। सरकार आप की सुरक्षा के लिए ही कदम उठा रही है और आवश्यकता पड़ी तो कड़े कदम भी उठाने पड़ेंगे।
पिछले तीन दिन से सामाजिक संस्थाएं लोगों को भोजन आदि उपलब्ध कराने के लिए सड़कों पर ही आ रहे हैं। वह गलत है सावधानी ही इस रोग के बचाव का एकमात्र अभी तक साधन है। नगर में बस स्टैंड रेलवे रोड गंग नहर रावली रोड व मेरठ दिल्ली हाईवे पर खाद्य सामग्री के लिए भारी भीड़ जमा हो गई थी।  जिस को हटाने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करते हुए चेतावनी भी देनी पड़ी थी कि यदि बिना मतलब कोई वाहन लेकर घूमता मिला गया तो वाहन सीज किया जाएगा और उस पर घूमने वाले को 14 दिन के लिए सरकार द्वारा स्थापित किए जाने वाले सेंट्रो में भेज दिए जाएंगे।


Comments