लॉक डाऊन में व्यापारियों के हितों का हनन नहीं होने दिया जाएगा - पं0 आशु शर्मा
लॉक डाऊन में व्यापारियों के हितों का हनन नहीं होने दिया जाएगा - पं0 आशु शर्मा

 


 

मुरादनगर। पश्चिम उ0 प्र0 संयुक्त व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष पं0 आशु शर्मा ने संगठन के मुख्य पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की तथा व्यापारियों की वर्तमान की स्थिति पर मंत्रणा की गई जिस में सामने आया वर्तमान में मध्यम वर्गीय व्यापारी बेहद दयनीय स्थिति में है।

लगातार बढ़ता लॉक डाउन व्यापारियों की कमर तोड़ने का काम कर रहा है। केंद्र तथा प्रदेश सरकार व्यापारियों को किसी भी प्रकार की रियायत प्रदान नहीं कर रही।

तय किया गया कि व्यापारियों की वर्तमान स्थिति पर संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पं0 आशू शर्मा प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री, तथा मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को पत्र लिखकर व्यापारियों की मांगो से तथा दयनीय स्थिति से अवगत कराएंगे।

पं0 आशु शर्मा ने कहा के जब बाजार खुलेंगे तब व्यापारियों के सामने वित्तीय व्यवस्था को दुरूस्त करना बड़ी चुनौती होगी। यही नहीं व्यापार को फिर से पटरी पर लाना भी आसान नहीं होगा। इसलिए सरकार को व्यापारियों की मदद के लिए आगे आना चाहिए।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार और विभिन्न राज्य सरकारों ने पिछले वर्षों में अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में विशेष कर किसानों के लिए अलग-अलग बहुत पैकेज दिए हैं।

उसी तर्ज पर इस समय व्यापारियों के लिए भी मजबूत प्रोत्साहन पैकेज की आवश्यकता है। केंद्रीय वित्त मंत्री को व्यापारियों के लिए राहत पैकेज की तुरंत घोषणा करनी चाहिए। जिसमें व्यापारियों का विभिन्न सरकारी योजनाओं से लिया गया पांच लाख तक का कर्ज की माफी की जाए। व्यावसायिक संपत्तियों का किराया 50% तक कम किया जाए। लॉक डाउन की अवधि में  व्यापारियों का व्यवसायिक एवं आवासीय बिजली का बिल पूर्ण रूप से माफ किया जाए।

सरकार ने जिस प्रकार 20 अप्रैल से ई-कॉमर्स कंपनियों का ऑनलाइन व्यापार करने की इजाजत दी है उसी तर्ज पर खुदरा व्यापारियों को भी ऑनलाइन व्यापार करने की अनुमति दी जाए।  पं0आशु शर्मा ने कहा लॉक डाउन की अवधि में सरकार ने कर्मचारियों को पूर्ण वेतन देने के निर्देश जारी किया हैं, जबकि छोटे व्यापारियों को बिना राहत के सभी नियमित खर्चे को पूरा करना है। सरकार को इसके लिए अपनी तरफ से कर्मचारियों के वेतन में 50% का सहयोग व्यापारियों को करने की व्यवस्था करनी चाहिए। जीएसटी ओर आयकर के तहत व्यापारियों को रिफंड तुरंत देना चाहिए।

थोक विक्रेताओं, खुदरा विक्रेताओं तथा उनके कर्मचारियों को जो आवश्यक वस्तुओं का व्यापार करते हैं उनको भी सरकार की तरफ से मेडिकल तथा पैरामेडिकल स्टाफ की तरह 50 लाख तक का बीमा देना चाहिए। व्यापारियों को आसान शर्तों पर बिना किसी ब्याज कॉरोना लोन उपलब्ध कराना चाहिये। इन सभी मांगों को लेकर पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल पत्र लिखेगा अगर मांगों को पूरा नहीं किया गया तो संगठन व्यापारी हितों में आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेगा

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग वार्ता में मुख्य रूप से पियुष वषिष्ठ, सुमेर सिंह धार ,ज्ञानेंद्र सिंघल ,संजय त्यागी, अमित कंसल ,संजय शर्मा ,धर्मेंद्र मलिक ,तुषार चौधरी, राजीव भारद्वाज, चंद्र प्रकाश शर्मा,अमित जैन, जितेंद्र दीक्षित, शामिल रहे।

 

Comments