मजहब नही सिखाता आपस में बैर रखना- रामकिशन 'बंधु'
मजहब नही सिखाता आपस में बैर रखना- रामकिशन 'बंधु'

 


रामकिशन बंधु

 

मुरादनगर। एक वार्ता के दौरान प्राइवेट स्कूल फेडरेशन के अध्यक्ष रामकिशन 'बंधु' ने कहा कि पूरा देश इस समय कोरोना महामारी के संक्रमण काल से गुजर रहा है। ऐसे भयावह वातावरण से निजात पाने के लिए हम सभी को परस्पर एकता, प्रेम व सौहार्द की ताकत को सजीव करना होगा। सरकार द्वारा जारी अनुशासन एवं संयम का पालन करके ही इस आपदा से बचा जा सकेगा। 

व्हाट्सएप पर जारी अनेक विद्वेष भरी टिप्पणियां, फोटो व वीडियो समाज में कटुता उत्पन्न कर रही हैं। हिंदू - मुस्लिम समाज में परस्पर ईर्ष्या पैदा करने वाले असामाजिक तत्वों से हमें सावधान रहना होगा। प्रत्येक समाज में निकम्मी सोच रखने वाले चंद ही लोग होते हैं ऐसे तत्वों पर कड़ी नजर रखें और सद्भाव को न बिगड़ने दें। 

इंसानियत सबसे बड़ा धर्म है बस इसी भावना को दिल में बसा कर रखें। मात्र चंद लोगों की करतूत को लेकर किसी भी समाज पर दोषारोपण अथवा छींटाकशी करना हम सब को कमजोर बना देगा। आइए हम सभी अपने जीवन मूल्यों की महत्ता कायम रखते हुए इस महामारी के प्रकोप से संपूर्ण समाज, प्रदेश और देश की रक्षा करने का व्रत लें। हमारी यही ताकत विश्व में तेजी से पहले कोरोना की भयावहता से भारतवर्ष को बचाने में सक्षम होगी।

Comments