प्रोफेसर सेराज अहमद लगातार गरीब मजदूरों की कर रहे हैं हर तरह से सहायता

प्रोफेसर सेराज अहमद लगातार गरीब मजदूरों की कर रहे हैं हर तरह से सहायता



दिल्ली। शिक्षक संघ पूर्व ज़िला सचिव ( सपा ) प्रोफ़ेसर सेराज अहमद, जब से लॉकडाउन हुआ है उसी दिन से 200 से ज़्यादा दिहाड़ी मज़दूरों को सहायता राशि और 500 से ज़्यादा लोगों को राशन मुहैया करा चुकें हैं और अभी निरंतर सम्पर्क कर सहायता राशि  और राशन देने का काम कर रहें  है। उन्होंने हमेशा ही समाज की नि:स्वार्थ सेवा करना और शिक्षा को जीवन में वास्तविक रूप देकर कार्य करना सर्वोपरी समझा।




सेराज अहमद जि.ऐन .आइ. टी कॉलेज में कार्यरत विधुत विभाग के अनुभवी  सहायक प्रोफेसर  है। इनके इस सराहनिय कार्य से मज़दूरों को  इस समय भरपूर  लाभ मिल रहा है और वीडियो कॉल के माध्यम से मजदूर लोग मदद की सिफ़ारिश कर रहें हैं और अपने आशीर्वाद और दुवाओं से इनको नवाज़ रहे हैं साथ ही साथ प्रोत्साहित भी कर रहें है।  



शिक्षा का मुल उद्देश्य “शिक्षार्थ आईए सेवाअर्थ जाईए” का अनुपालन करते हुए इनके छोटे भाई मेराज अहमद जमीनी स्तर पर काम करने के लिए विचार विमर्श करके अपने शिक्षित युवा साथियों के साथ एक बहुउद्दशीय मानवता कल्याण संगठन " M. H.W"  (Multi Humanity Welfare)  की नींव रखी। इस संगठन के द्वारा लॉकडाउन में फँसे दिहाड़ी मजदूरों को हर सम्भव मदद करने का प्रयास किया जा रहा है। M.H.W का एक ही उद्देश्य है कि 
कोई मज़दूर ओर ग़रीब भुखा न रहे, इसके लिए युवा 
साथी आफ़ताब, इजहार, संतोष कुमार, जाहिद, जे.डी आलम, रिज़वान, नसीम, ख़ालिद, वसीम, साजिद, अमजद, शाहिद, साहेब, रहमत, मोसीर, छोटू, शाहरुख, कादिर(चुनू), सरफराज, आरिफ जमीनी स्तर पर लोगों से मिलकर और सूची तैयार कर राशन किट ( आलू,प्याज, तेल, साबुन, सोयाबीन) का लगातार वितरण कर रहें है।
सेराज अहमद और युवा साथियों के द्वारा बनाया गया संगठन M..H.W का उद्देश्य है कि जमीनी स्तर पर लोगों की सेवा करना, अपना काम इमानदारी से करना और आपसी सौहार्द बना के रखना। देश के विकास के लिए आज के इस दौर में बहुत ही आवश्यक है और यही इंसानियत और असली राष्ट्रवादी होने की पहचान है और लोगों में एकता अखंडता कायम रहे व जरूरतमंद, असहाय, गरीब की सेवा हो, यही हमारा लक्ष्य है।


Comments