व्यापारियों को भी सरकार की तरफ से मिलनी चाहिए सुविधाएं -  मुनेश जिंदल
व्यापारियों को भी सरकार की तरफ से मिलनी चाहिए सुविधाएं -  मुनेश जिंदल

 


 मुनेश जिंदल

 

मुरादनगर। देश में किसी भी आपदा के समय व्यापारी वर्ग हमेशा देश की जनता व सरकार की भलाई में रहता है। वह भी तब जबकि तमाम तरह के सरकारी कर देने के बाद भी व्यापारी को सरकार की ओर से कोई सुविधा नहीं मिलती। लेकिन फिर भी व्यापारी अपने फर्ज से पीछे नहीं हटता। यह बातें नगर के मार्बल व्यवसाय व मानव अधिकार निगरानी समिति के मुनेश जिंदल ने कही। उन्होंने कहा कि किन्हीं भी कारणों से यदि बाजार बंदी होती है तो उसका सीधा असर व्यापार पर पड़ता है।  व्यापारी के पास खेत खलिहान नहीं होते उसकी दुकानदारी ही उसका एकमात्र रोजी-रोटी का जरिया होती है। उन्होंने कहा कि हम सरकार को विभिन्न स्त्रोत ऊपर कर अदा करते हैं।

इसलिए हम हमें बीपीएल राशन कार्ड की सुविधा भी उपलब्ध नहीं है। जबकि व्यापारी विषम परिस्थितियों में है। जिंदल ने कहा कि सरकार देश के मध्यम वर्गीय लोगों के लिए सहायता के लिए कोई सुविधा नहीं है लेकिन उसके बावजूद भी व्यापारी वर्ग किसी भी आपदा के समय पीड़ितों व सरकार के साथ सहयोग करता है और अपनी हैसियत से भी अधिक लोगों की मदद करता है। फिर भी व्यापारियों के लिए सरकार की ओर से कोई सुविधा नहीं है। यदि व्यापारियों का व्यापार नहीं चलेगा तो वह भी आम लोगों की तरह दूसरों पर निर्भर हो जाएंगे जबकि अभी तक का इतिहास है कि व्यापारी वर्ग ने महाराणा प्रताप से लेकर अभी तक देश हित के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर देते हैं। जिंदल ने कहा कि सरकार कर्फ्यू के दौरान समाज के हर वर्ग के लिए कुछ ना कुछ सहायता कर रही है।  लेकिन व्यापारियों की ओर उसका भी ध्यान नहीं है जबकि व्यापारी देश की आर्थिक स्थिति की नीव होता है।

Comments