युवा जल संरक्षण समिति ने मनाया प्रथम स्थापना दिवस

युवा जल संरक्षण समिति ने मनाया प्रथम स्थापना दिवस



मुरादनगर। शुक्रवार को युवा जल संरक्षण समिति का प्रथम स्थापना वर्ष पूरा होने की खुशी में सदस्यों द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रथम स्थापना उत्सव मनाया गया। जिसका संचालन राष्ट्रीय सचिव निशांत भारद्वाज द्वारा किया गया। निशांत भारद्वाज ने कहा सभी सदस्यों की मेहनत एवं लगन के बिना समिति का आगे बढ़ना संभव नही था। इसके लिए उन्होंने समिति के सभी सदस्यों को स्थापना दिवस की बधाई के साथ साथ धन्यवाद भी दिया।


समिति के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक गुप्ता द्वारा बहुत ही सुंदर पंक्तियों पर प्रकाश डाला गया। जो इस प्रकार से हैं - 


"किया आगाज है हमने अभी अंजाम बाकी है
जमाने भर के होठों पर हमारा नाम बाकी है
अभी घर से ही निकले हैं जमीं पग भर ही नापी है
जहां तक आसमा है अभी वहां तक काम बाकी है।" 
के साथ समिति के सदस्यों का उत्साह बढ़ाते हुए पिछले 1 साल के सफर का वर्णन करते हुए भविष्य की नीतियों पर भी प्रकाश डाला।


समिति के प्रवक्ता विश्वओम त्यागी ने बताया कि प्रथम स्थापना दिवस को जमीनी स्तर पर बड़े ही धूमधाम से मनाने की तैयारी थी जोकि कोरोना वायरस महामारी के चलते स्थगित करनी पड़ी।समिति के राष्ट्रीय उपसचिव राहुल चौधरी ने कोरोना महामारी के दौरान समिति द्वारा पहुँचायी जा रही खान पान सामग्री को लेकर संतोष जताया एवं उन सभी जल योद्धाओं का धन्यवाद ज्ञापित किया जो जरूरतमंदों के घर घर जाकर वहां राहत सामग्री पहुंचा रहे हैं। समिति के उपाध्यक्ष सचिन शर्मा ने आगे बताते हुए कहा कि अब समिति जल जागरूकता अभियान के साथ साथ कुछ नए प्रोजेक्ट्स को लेकर भी कार्य कर रही है जिनसे बड़ी मात्रा में जल का दोहन रोका जा सकेगा। समिति के पिलखुआ नगर अध्य्क्ष मधुसूदन सिसोदिया ने समिति के तरफ से सभी कोरोना वारियर्स को सलाम एवं धन्यवाद किया जोकि अपना घर छोड़कर देश सेवा में लगे हुए है।


आज की मीटिंग में मुख्य रूप से अभिषेक अरोड़ा, राहुल चौधरी, शिवम सचदेवा, आलोक ठाकुर, सुमित मोहन वर्मा, मोहित शर्मा, चंदन ठाकुर, मनीष भटनागर, दुर्गेश कुमार, ललित कुमार,  सुशील, बृज मोहन, नरेंद्र कुमार, सुशील, अनित दक्ष, वीरेन कश्यप, केशव भारती, विकास गर्ग, संजय चौधरी, अंकित त्यागी, महिपाल कोरी,पंकज दीक्षित, प्रिया त्यागी, पायल शर्मा व माही आदि जल योद्धा मौजूद रहे।


Comments