31 मई 2020 को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस - डॉ आशुतोष गौतम

31 मई 2020 को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस - डॉ आशुतोष गौतम



गाजियाबाद। राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ गाजियाबाद, जनपद सलाहकार, डॉ आशुतोष गोतम ने जानकारी देते हुए बताया है कि 31 मई को दुनिया भर में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस मनाया जाता है। सब जानते है कि तंबाकू जानलेवा है, फिर भी बहुत से लोग तम्बाकू का सेवन नहीं छोड़ पाते है। ऐसे लोग अगर तम्बाकू से जुड़ी ये बातें जान लें तो तम्बाकू सेवन करना छोड़ देंगे। कोरोना महामारी के चलते संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा तम्बाकू उत्पादों पर प्रतिबंध लगाया गया है। सार्वजनिक स्थानों पर ना थूकें इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने कहा, ’’ धुआं रहित तम्बाकू उत्पादों जैसे गुटखा, पान मसाला, पान सुपारी आदि चबाने से ज्यादा लार बनता है, इस वजह से थूकने की जरूरत महसुस होती है,सार्वजनिक जगहों पर थूकने से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ सकतें है। तम्बाकू का सेवन ना करें। तम्बाकू के सेवन से फेफड़े कमजोर हो सकते है जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। धूम्रपान करने से शरीर की बीमारियों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता कम होती है, जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।


नशा छोड़ने का इससे सुनहरा मौका शायद फिर कभी नहीं मिले क्योकि 21 दिन में पाई जा सकती है किसी भी बुरी आदत से निजात। लोग तम्बाकू उत्पादों का सेवन कर नशा करते है। सभी प्रकार के नशे से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। तम्बाकू प्रतिबंध के कारण लोगों को नशे की वस्तुएं आसानी से नहीं मिल रही है लोगों ने बिना नशे के दो माह से अधिक दिन गुजाऐ भी है। इसलिए इस समय को नशा छोड़ने के लिऐ उपयोग करें। अचानक नशा छोड़ने पर कोई न कोई दिक्कत जरूर आती है थोड़ी हिम्मत दिखाकर नशे से मुक्ति पाई जा सकती है। इस दिनों लोग परिवार से सदस्यों से साथ घर पर ही है। ऐसे में जिनको नशे की लत है, वह लोग परिवार के साथ व्यस्त रहें। पुस्तकें पढे़, खेलें, परिवार के साथ मनोरंजक धारावाहिक देखें। नशा खरीदने के लिए कोई प्रयास न करे। इससे पैसे भी बचेंगे और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढे़गी। जिससे किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाव होगा। नशा छोड़ने पर कुछ दिक्कत जरूर आती है। हो सकता है नशे की लत छोड़ने पर चिड़चिड़ापन, भूख कम लगना, नींद नही आना, धबराहट होना और गुस्सा आने जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़े।परन्तु हमारी इच्छा शक्ति और संकल्प से बड़ा कुछ नहीं है। ज्यादा दिक्कत हो तो चिकित्सक को दिखाए और मदद ले। सरकार द्वारा एम0एम0जी0 जिला चिकित्सालयों में तम्बाकू उन्मूलन केन्द्र संचालित किये जा रहे है। जहॅा तम्बाकू छोड़ने के लिऐ निशुल्क परामर्श व काउन्सिंलिग की जाती है।* *सहायता के लिए कॉल करें (टोल फ्री न0) 1800112356 मिस्ड कॉल दें 011-22901701 धूम्रपान और तम्बाकू से दूरी, कोरोना रोकने के लिए है जरूरी। 


Comments