छुट्टियों में भी होगी पढ़ाई, ऑनलाइन दिया गया छात्र-छात्राओं को होमवर्क - योगेन्द्र सिंह

छुट्टियों में भी होगी पढ़ाई, ऑनलाइन दिया गया छात्र-छात्राओं को होमवर्क - योगेन्द्र सिंह



कॉलेज के डायरेक्टर चौधरी योगेंद्र सिंह


मुरादनगर। असालत नगर स्थित पूर्णज्ञानांजली इंटर कॉलेज में छात्र छात्राओं को ग्रीष्म काल की छुट्टियां घोषित करते हुए घर में ही पढ़ाई का क्रम चलता रहे के लिए होमवर्क छात्रों को दिया गया है। कॉलेज की ओर से एक हेल्पलाइन नंबर छात्र छात्राओं को उपलब्ध कराया गया है यदि किसी प्रश्न के बारे में छात्रों को अध्यापक की आवश्यकता होगी, अध्यापक उनकी ऑनलाइन मदद करेंगे। कॉलेज के डायरेक्टर चौधरी योगेंद्र सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि व्हाट्सएप ग्रुप के द्वारा छात्र छात्राओं को पढ़ाने का प्रयोग ज्यादा सफल नहीं है। उसके लिए बच्चे को कंप्यूटर, मोबाइल, नेट आदि की आवश्यकता होती है, जिससे अभिभावकों पर यह अतिरिक्त खर्चे पड़ते हैं, साथ ही कम आयु वर्ग के बच्चों के हाथों में मोबाइल थमा देना भी घातक हो सकता है।


योगेंद्र ने बताया कि लॉक डाउन के कारण कॉलेज बंद हुए छात्रों को पढ़ाई में भी बाधा हुई लेकिन अब ऐसी व्यवस्था की गई है कि छुट गए कुछ विषयों को छात्र दोबारा पढ़ सकते हैं। उन्होंने बताया कि आवश्यक जानकारी किसी दस्तावेज के लिए व स्कूल संबंधी किसी भी समस्या के लिए कॉलेज टाइम में कुछ स्टाफ मौजूद रहता है जिससे छात्र छात्राओं को अपने शिक्षण कार्य में कोई बाधा न आए। उन्होंने कहा कि हर कॉलेज वाला चाहता है कि उसके छात्र अव्वल हों। उसके लिए छात्र छात्राओं को हमें भी कुछ सुविधाएं देनी चाहिए। जिससे कि वह एकाग्र होकर अपने समय का पढ़ाई में सदुपयोग कर सकें। 


उन्होंने बताया कि छात्रों अभिभावकों व छात्र-छात्राओं द्वारा मनचाहा बोर्ड उत्तर प्रदेश शिक्षा परिषद व सी बी एस सी दोनों ही बोर्डों से कॉलेज को मान्यता प्राप्त है। दोनों ही माध्यमों के लिए एक ही स्थान पर दो बिल्डिंग बनवाई गई हैं, जिससे कि आर्थिक रूप से कमजोर अभिभावक भी अपने बच्चों को अंग्रेजी सीबीएससी के माध्यम से शिक्षा दिला सकें। हिंदी माध्यम की उत्तर प्रदेश बोर्ड की शिक्षा को माध्यम बना सके। योगेंद्र ने बताया कि हमने स्कूल में फीस आदि के शुल्क इतने मामूली रखे हुए हैं कि आसानी से कोई भी अपने बच्चों को यहां पढ़ा सके। इसके अलावा आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के योग्य छात्र छात्राओं की शिक्षा पैसे की कारण प्रभावित न हो ऐसा हमारा प्रयास रहता है। 


कॉलेज में योग्य प्रशिक्षित अध्यापक अध्यापिकाऐं नियुक्त किए गए हैं। वह भी इस बात का विशेष ध्यान रख रहे हैं कि लॉक डाउन के कारण बच्चों की शिक्षा का कार्य प्रभावित न हो। संबंधित विषयों के अध्यापक फोन पर भी छात्र छात्राओं को समय-समय पर दिशा निर्देश दे रहे हैं। जिससे छात्र छात्राओं को अपने विषयों के बारे में घर में रहकर ही पढ़ाई जारी रख सकें। 


Comments