ग्राम प्रधान की सच्चाई उजागर करने पर पत्रकार को मिली धमकी 

ग्राम प्रधान की सच्चाई उजागर करने पर पत्रकार को मिली धमकी 


ग्राम प्रधान ने प्रकाशित करवाई पत्रकार के खिलाफ झूठी खबर


क्वॉरेंटाइन में रहने वाले लोगों की तस्वीर


देवरिया। नमस्ते आवाम समाचार पत्र के एक संवाददाता ने पनिका गांव के क्वॉरेंटाइन की व्यवस्थाओं की एक वीडियो बनाई जिसमें ग्राम प्रधान की नाकामी दिखाई दी। क्वॉरेंटाइन में कोई भी सुविधा नहीं दिख रही थी जबकि ग्राम प्रधान ने कहा था कि उसने क्वॉरेंटाइन की सभी व्यवस्थाएं की हुई हैं। गौरतलब हो कि ग्राम पनिका में बाहर से आए लोगों की कोई देखरेख नहीं हो रही थी। गांव वासियों ने प्रधान पर आरोप लगाया कि उनके द्वारा यहां पर कोई भी व्यवस्था नहीं की जा रही है। जो लोग बाहर से आ रहे हैं उनसे घर जाकर रहने को कहा जा रहा है। जब नमस्ते अवाम के एक संवाददाता ने ग्राम प्रधान से उन सारी खामियों के बारे में बात की तो ग्राम प्रधान ने उल्टा संवाददाता को ही धमकी दे डाली कि तुम्हारे खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाएंगे कि तुम मुझ पर झूठा आरोप लगा रहे हो और मेरी इज्जत धूमिल कर रहे हो। प्रधान का कहना है कि पत्रकार ने गलत शब्दों का प्रयोग किया है। लेकिन अगर कल की खबर में देखा जाए तो उस खबर में ऐसी कोई भी बात नहीं दिखलाई पड़ती। इस हिसाब से लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को आज किसी के दबाव में आना पड़ रहा है। एक पत्रकार की उससे आजादी छीनी जा रही है और सच्चाई दिखाने पर उसको ऐसे धमकियां मिल रही हैं। सच्चाई हमेशा कड़वी होती है, यह एक पत्रकार की पत्रकारिता की स्वतंत्रता का हनन है।


Comments