पत्रकार की मृत्यु दुखद, पत्रकारों को कोरोना वारियर्स की श्रेणी में  लाया जाए - मुकेश सोनी

पत्रकार की मृत्यु दुखद, पत्रकारों को कोरोना वारियर्स की श्रेणी में  लाया जाए - मुकेश सोनी

 


 

सरकार एक करोड़ सहायता व परिवार के एक सदस्य को दें। नौकरी श्रमजीवी पत्रकार संघ की ओर से प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर  कोरोना से आगरा के वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ की मृत्यु को दुखद बताते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रदेश सरकार से पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये सहायता व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का अनुरोध करते हुए कहा गया है कि सरकार मृतक पत्रकार के पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये व एक सदस्य को सरकारी नौकरी दें। कोरोना से उत्तर प्रदेश में किसी पत्रकार के निधन की यह पहली घटना है। 

कहा गया है कि कोरोना संकट के इस दौर में पत्रकार वारियर्स की तरह जान जोखिम में डाल कर दिन रात मेहनत कर रहे हैं और सरकार के जनकल्याण के कदमों, फैसलों की जानकारी के साथ साथ जनता को महामारी से बचाव के लिए निरंतर जागरूक भी कर रहे हैं।पत्रकारों का कहना है कि बड़े अफसोस की बात है कई बार सरकार को ज्ञापन देकर सभी पत्रकारों को एक करोड़ का बीमा कवर देने की मांग की थी। इस मांग पर प्रदेश सरकार से अविलंब विचार कर सकारात्मक कारवाई की  जाए पत्रकारों को कोरोना वारियर्स की श्रेणी में रखते हुए उनकी समुचित सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रदेश सरकार को उठानी चाहिए। सभी पत्रकारों को बीमा कवर के साथ ही इस महामारी से जीवनहानि होने की दशा में पीड़ित पत्रकार के परिजनों को सरकारी सहायता व नौकरी का प्रावधान किया जाना चाहिए तथा शीघ्र ही पत्रकार सुरक्षा कानून लागू कर  पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। इस बारे में संस्था के संरक्षक मुकेश सोनी ने बताया कि सरकार की ओर से पत्रकारों की सुरक्षा के लिए अनेक प्रावधान किए गए हैं लेकिन उन्हें इसका लाभ नहीं मिल रहा क्योंकि सरकार इसके लिए गंभीर नहीं दिखलाई देती जबकि सरकारें चाहती हैं कि पत्रकार उनकी चलाई गई योजनाओं को जनता तक ज्यादा से ज्यादा पहुंचाएं। सरकार को भी इस महत्वपूर्ण स्तंभ के बारे में सोचना चाहिए।

Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी