प्रधान गीता गौतम रख रही है पूरे गांव का ध्यान
प्रधान गीता गौतम रख रही है पूरे गांव का ध्यान

 


 

गीता गौतम ग्राम प्रधान

 

मुरादनगर। कोरोना महामारी ने जहां तमाम लोगों को घर के अंदर रहने को मजबूर कर दिया है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस तालाबंदी के समय को भी बर्बाद नहीं होने देना चाहते। गांव बड़का आरिफपुर की प्रधान गीता गौतम लाॅक डाउन को जहां एक दूसरे के सुख दुख बांट रही हैं वहीं गांव में कोई भूखा न सोए यह भी प्रयास कर रही हैं।

सरकार ने लॉक डाउन के साथ घर में रहने के निर्देश देते हुए बीमारी की रोकथाम शुरू की थी। सरकार द्वारा घोषित आपदा कार्यक्रम सभी के लिए लागू होते हैं लेकिन एक चुना हुआ जनप्रतिनिधि होने के नाते लोगों  की स्थिति पर निगाह रखना भी एक जिम्मेदारी है।

तालाबंदी से गांव में तमाम ग्रामवासी भी रुके हुए हैं। उन लोगों की भी समस्याएं पता चल रही है जिनका निराकरण भी इस आपदा काल के बाद करा दिया जाएगा। गांव की प्रधान  गीता गौतम ने बताया कि गांव बड़का आरिफपुर में लगभग 600 परिवार हैं। करीब 200 लोगों को सरकारी सहायता पेंशन आदि प्राप्त हो रही है। गांव में हमें कच्चे रास्ते मिले थे अब सभी पक्के हो चुके हैं। गांव के स्कूल मदरसा बदहाल थे। उन्हें आधुनिक रूप देते हुए बच्चों के खेलने व अन्य सुविधाएं उपलब्ध हो रही हैं। गांव में सफाई की पूरी व्यवस्था रखी जा रही है, उसके लिए एक सफाई कर्मचारी सरकारी आता है। बाकी लोगों के सहयोग से भी गांव को स्वच्छ रखने के प्रयास किए जा रहे हैं। बच्चों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए स्कूलों मदरसे में आरओ की व्यवस्था कराई गई है।

ग्राम प्रधान बताती है कि गांव की आबादी लगभग मिश्रित है। मुस्लिम परिवार भी हैं रोजे चल रहे हैं ऐसे में हमारी भी जिम्मेदारी होती है कि उन लोगों को कोई परेशानी न हो यह भी देखा जा रहा है। गीता गौतम के पति राकेश गौतम बहुजन समाज पार्टी की सक्रिय राजनीति में हैं। सत्ता के दौरान पार्टी में पदाधिकारी भी रहे और अब भी पार्टी के कार्यक्रमों में हिस्सेदारी व लोगों की समस्याओं को दूर कराने का प्रयास करते आ रहे हैं, उसका लाभ भी गांव प्रधान को मिल रहा है। कोरोना को लेकर जारी दिशा-निर्देशों को लेकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। लोग सभी कार्य घरों में ही कर रहे हैं। गीता गौतम ने बताया कि बंदी में सावधानी रखकर गांव में घूमकर भी यह ध्यान रखा जा रहा है कि किसी को परेशानी न हो।

Comments