राष्ट्रीय सेवा योजना का मुस्कुराएगा इंडिया अभियान

राष्ट्रीय सेवा योजना का मुस्कुराएगा इंडिया अभियान



गाजियाबाद।  वैश्विक माहमारी कोविड 19 के दौर में लोगो के मानसिक स्वास्थ्य एवं उनकी खुशहाली के लिए राष्ट्रीय सेवा योजना उत्तर प्रदेश, यूनिसेफ इंडिया और पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया के मुस्कुराएगा इंडिया अभियान के समस्त काउंसलर की एक विशेष ऑनलाईन कार्यशाला सम्पन्न हुई। इस कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए राष्ट्रीय सेवा योजना के क्षेत्रीय निदेशक अशोक श्रोती ने कार्यशाला की सफलता के लिए शुभकामना देते हुए कहा कि लोगों के दुख में उन्हें सहायता पहुँचाना अत्यंत प्रशंसनीय कार्य है। कार्यशाला को संबोधित करते हुए डॉ अंशुमाली शर्मा, राज्य संपर्क अधिकारी ने कहा कि देश में उत्तर प्रदेश पहला ऐसा राज्य है जहां एन एस एस संकट के इस समय में मुस्कुराएगा इंडिया अभियान संचालित कर रहा है। ज्ञातव्य है कि समूचे उत्तरप्रदेश के पिछत्तर जिलों में एन एस एस के चुने हुए कार्यक्रम अधिकारी फोन द्वारा मानसिक स्वास्थ्य के लिए परामर्श का कार्यक्रम संचालित कर रहे हैं। आज की ऑनलाईन कार्यशाला माईग्रैंट वर्कर्स की समस्याओं एवं उनकी दिक्कतों के निवारण पर केंद्रित थी जिसमें प्रदेश के 200 से अधिक एन एस एस कार्यक्रम अधिकारियों ने हिस्सेदारी की। 


प्रशिक्षण में राज्य सरकार द्वारा माईग्रैंट वर्कर्स के चलाई जा रही विभिन्न सहायता योजनाओं की जानकारी यूनिसेफ की उर्वशी चंद्रा द्वारा दी गई। दूसरे सत्र में डॉ नीलम ने आत्महत्या जैसी अवसादजनक स्थिति को कम करने के लिए आवश्यक पहलुओं की महत्वपूर्ण जानकारी दी। इस ऑनलाईन कार्यशाला में गाजियाबाद जनपद से राष्ट्रीय सेवा योजना के पांच कार्यक्रम अधिकारियों डॉ प्रकाश चौधरी -9717833550), डॉ सुजाता -7409477622, डॉ रेशमा महेश्वरी -9560530122 , डॉ विशाल कुमार -9897373776 और श्रीमती आरती सिंह -9651802303 को काउंसलिंग के लिए चुना गया है और कोई भी आम नागरिक, युवा और छात्र-छात्राएं कोविड 19 के कारण उत्पन्न स्थितियों में तनाव कम करने के लिए इन काउंसलर्स को फोन कर सकते हैं। कार्यशाला में पी एच एफ आई से अनुराग चतुर्वेदी और मुख्य वक्ता ड़ॉ नीलम (एम. डी. मनोचिकित्सक), दीक्षा और यूनिसेफ से दयाशंकर, और भाई शैली मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन अनुराग चतुर्वेदी ने किया।


Comments