व्यापारियों को सहायता बाजार खुलने का समय बढ़े
व्यापारियों को सहायता बाजार खुलने का समय बढ़े

 


 

मुरादनगर। उ.प्र. उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश मंत्री गोपाल अग्रवाल एवं उद्योग व्यापार मंडल मुरादनगर के अध्यक्ष पंकज गर्ग ने मुख्यमंत्री को लिखे संयुक्त पत्र में कहा है, कोविड 19 की महामारी पर पूरे प्रदेश में अंकुश लगाने के लिए सरकार द्वारा निर्णय लिये गये। इसके लिए सरकार बधाई की पात्र हैं सरकार के निर्णय को सफल बनाने के लिए प्रदेश के करोड़ों व्यापारियों के साथ ही मुरादनगर के हजारों व्यापारियों ने सहयोग किया। पिछले डेढ़ महीने से व्यापार लगातार बंद होने से व्यापारी जर्जर स्थिति में पहुंच गया है। उसका व्यापार छिन्न भिन्न हो गया है। प्रदेश के रीढ़ छोटे-छोटे व्यापारियों को अपनी दुकान खोलने की अनुमति नहीं है जबकि पूरे दिन में एक दुकान पर मुश्किल से दस से पंद्रह ग्राहक ही आते हैं। अब जब सरकार ने शराब की बिक्री खोल दी है।

शराब की दुकानों के बाहर लम्बी लम्बी लाईनें लगी है और बैंकों के बहार पहले से ही लाईनें लगी है। जहां लाॅक और सोशल डिस्टेंसींग का खुला उलंघन हो रहा है। जबकि व्यापारियों द्वारा पिछले डेढ़ महीने से लोकडाउन में सरकार, पुलिस, प्रशासन के हर निर्णय का पालन संयम और धैर्य के साथ किया जा रहा है। व्यापारी अब भूखमरी और आत्महत्या के कगार पर आ गया है आपके द्वारा समय-समय पर उचित निर्णय लिये गये। प्रदेश के हर वर्ग के लिए मदद की घोषणा की गई। व्यापार की रक्षा करने हेतु बंद पड़ी दुकानों के बिजली बिल माफ करने, बैंक की लिमिट, लोन का ब्याज माफ करने, जिला पंचायत की दुकानों का किराया माफ करने, लोकडाउन के दौरान मिठाई, बैकरी, हलवाई, रेस्टोरेंट्स आदि अन्य प्रकार की दुकानों का सामान बर्बाद हो गया है। ऐसे व्यापारियों की मदद की जाए साथ ही बंद पड़े व्यापारियों के लिए तत्काल राहत पैकेज की घोषणा की जाएं। पत्र में कहा गया है कि जब पूरे देश में आनलाईन बिक्री बंद कर दी गई तब इन छोटे छोटे व्यापारियों ने ही देश में खाद्य पदार्थों के साथ ही दूध, दवाई, सब्जी, फल, पशु आहार, गैस डीलिवरी इत्यादि की आपूर्ति सुनिश्चित करके देश को संकट से उभारने का काम किया। पिछले डेढ़ महीने से आज तक मुरादनगर में आवश्यक सेवा वाले इन व्यापारियों को भी केवल तीन घंटे दुकान खोलने की अनुमति है, जिसकी वजह से ये दुकानदार अपनी जान जोखिम में डालकर आवश्यक सेवाएं देने को मजबूर है।

अब जब सरकार द्वारा शराब जैसे मादक पदार्थो को भी सुबह दस बजे से शाम सात बजे तक खोल दिया गया है। तो मुरादनगर में भी आवश्यक सेवाओं को सुबह नौ बजे से शाम सात बजे तक खोलने और अन्य सभी प्रकार के व्यापारियों को तत्काल राहत देते हुए खोलने की छुट देने की घोषणा करने की कृपा करें। हम सभी व्यापार खोलने पर भी सरकार के निर्देश एवं सोशल डिस्टेंसींग का पालन करेंगे। प्रदेश के किसी भी जनपद में मामूली गलती पर व्यापारी को दंडित ना किया जाए ये भी सुनिश्चित करने की कृपा करें। हमें आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि प्रदेश के लाखों व्यापारियों के साथ ही मुरादनगर के हजारों व्यापारियों की उपरोक्त मांगों को स्वीकार करने की कृपा करेंगे। मुख्यमंत्री एवं प्रमुख सचिव  को ईमेल के साथ ही जिलाधिकारी गाजियाबाद एवं उपजिलाधिकारी मोदीनगर को भी पत्र की प्रतिलिपि भेजी गई है।

Comments