देश की रक्षा के लिए मां बहनों ने भी बेच दिए थे जेवर - विनोद जिंदल

देश की रक्षा के लिए मां बहनों ने भी बेच दिए थे जेवर - विनोद जिंदल



मुरादनगर। शिक्षाविद समाजसेवी व्यापारी विनोद जिंदल का कहना है कि सरकार ऐसा रास्ता निकाल ले जिससे मजदूर और व्यापारी दोनों का भला हो। जिंदल ने बताया कि आज पूरी रेलवे बंद पड़ी है और इनकम शून्य है लेकिन कर्मचारियों की सैलेरी पूरी है। 


 


देश के करोड़ों पेंशन धारी को पेंशन पूरी


सरकारी रोडवेज की बसे बंद है पर सेलेरी पूरी


लाखों कोरोना मरीजों का इलाज और जांच फ्री


गरीबों को राशन मुफ्त या कंट्रोल से कम दामों पर


सरकार के सारे इनकम सोर्स बंद


व्यापार का टैक्स अभी लगभग बंद


 


ऐसी आपदा के समय में चीन और पाकिस्तान के साथ युद्ध के मोर्चे खुल गये है


अगर युद्ध हुआ तो पैसा क्या बहुत कुछ बलिदान करना पड़ेगा देश को


 


जिंदल ने बताया कि ऐसे ही समय में एक बार देश के लिए माँ-बहनों ने अपने गहनों का दान दिया था। पर आज की पीढ़ी देश के प्रति निष्ठा और कर्तव्य क्यों नहीं देख पा रही है। पैसा कहां से आएगा। सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर अगर टैक्स बढ़ा भी दिया तो क्या गलत कर दिया। आज के हालात में मुस्किल से महीने भर में पेट्रोल पर 500 से 600 रू का अतिरिक्त खर्चा आएगा। पर हम चिल्ला रहे हैं जिससे देशद्रोही, टुकड़े टुकड़े गैंग, भृष्ट राजनीतिज्ञों, अराजकता व अशांति फैलाने वाले लोगों के राजनीतिक एजेंडे को बल मिल गया है। 


Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी