जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट कर्मचारियों को बांटे फेस शील्ड व ग्लब्स

 


जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट कर्मचारियों को बांटे फेस शील्ड व ग्लब्स


 


कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत कलेक्ट्रेट में 06 'ड़े - अफसर नियुक्त'


 



गाजियाबाद। कोरोना संकमण से जनपदवासियों को बचायें रखने में जिला प्रशासन कोई कोताही नही बरतना चाहता है, जिसके लिए प्रशासन जनपद में प्राथमिकता पर लॉक डाऊन को और अधिक प्रभावी / सख्ती से लागू करा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना वायरस ( कोविड -19 ) को लेकर जारी गाईडलाईन जिसके अन्तर्गत जनपद के समस्त सरकारी कार्यालयों को अधिकारियों / कर्मचारियों की 100 प्रतिशत हाजिरी के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए खोले जाने के निर्देश दिये है। इसके कम में आज जिलाधिकारी गाजियाबाद अजय शंकर पाण्डेय ने कलेक्ट्रेट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने के समस्त कर्मचारियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में जानकारी दी। 


इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि इस वैश्विक एक साथ मिलकर इसको हराना है और आगे बढ़ना है। यह कठिन ज़रूर है , परन्तु नामुमकिन नही। इस अवसर पर उन्होंने स्वयं कर्मचारियों के पटल पर जाकर कर्मचारियों को फेस शील्ड एवं ग्लब्स बांटे। उन्होंने सभी से कहा कि प्रत्येक कर्मचारी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें ताकि वह स्वयं को और अपने आसपास अन्य लोगों को भी इस वैश्विक महामारी से सुरक्षित रखें। प्रायः यह देखा जाता है कि कर्मचारियों की लाईन लगवाकर उन्हें फेस मास्क, ग्लब्स इत्यादि उपकरण कोरोना से बचने के लिए बांटे जाते है परन्तु जनपद गाजियाबाद ऐसा पहला जिला है जहाँ जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमण की परवाह किये बिना अपने कर्मचारियों के पटलों पर स्वयं जाकर उन्हें कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु फेस शील्ड, ग्लब्स उपलब्ध कराये हैं। 


इस अवसर पर प्रशासनिक अधिकारी जयनारायण गुप्ता, संत कुमार गोला, के. के. शर्मा, वीर सिंह सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित रहें। प्रशासनिक अधिकारी जयनारायण गुप्ता ने कहा कि जिलाधिकारी के कर्मचारियों के साथ इस लगाव को देखकर इससे हम कर्मचारियों में एक प्रेरणा आयी है। संत कुमार गोला वरिष्ठ लिपिक ने कहा कि जिलाधिकारी कलेक्ट्रेट के कर्मचारियों से परिवार के सदस्यों की तरह उनका ख्याल रखते है। जिलाधिकारी को देख कर्मचारियों में कोरोना के डर के बिना कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शासकीय कार्य करने की प्रेरणा मिली है। महामारी से हमें इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने कलेक्ट्रेट में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कराने हेतु 06 अफसरों की जिम्मेदारी तय करते हुए इन्हें " डे - अफसर " का नाम दिया है। 


जिलाधिकारी ने बताया कि प्रत्येक दिन कलेक्ट्रेट में कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन कराने की ज़िम्मेदारी उस दिन के डे - अफसर की होगी। इसके लिए एक रोस्टर तैयार किया गया है। रोस्टर के अनुसार प्रत्येक दिवस कलेक्ट्रेट परिसर में सेनेटाईजेशन, कर्मचारियों द्वारा फेस मास्क पहनन डिस्टेंसिंग का पालन कराना एवं कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन कराना सम्बन्धित दिवस के ड़े - अफसर का दायित्व होगा। जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी एवं अन्य समस्त कार्यालयाध्यक्षों को भी पत्र प्रेषित कर अपने कार्यालयों में डे - अफसर नियुक्त कर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये है।


Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी