किसान नेताओं का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं - मटरू नागर

किसान नेताओं का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं - मटरू नागर



ग्रेटर नोएडा। भारतीय किसान यूनियन अंबावता के राष्ट्रीय प्रवक्ता मटरू नागर ने प्रेस को जारी बयान में कहा है कि पुलिस द्वारा किसान नेताओं को जानबूझकर फर्जी मुकदमे दर्ज करके परेशान किया जा रहा है जोकि बेहद निंदनीय है। इसको लेकर समस्त किसान नेताओं में रोष व्याप्त है और पुलिस की दमनकारी नीति के खिलाफ आर पार की लड़ाई लड़ने के मूड में है। मटरू नागर ने बताया की पिछले दिनों ग्रेटर नोएडा के जिम्स के अंदर कुछ कर्मचारी सुविधाओं को लेकर धरना दे रहे थे। उनका समर्थन करने किसान एकता संघ के नेता जतन भाटी वहां पर पहुंच गए और उनकी समस्याओं को उठाने का काम किया। इसको लेकर स्थानीय पुलिस द्वारा जतन भाटी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। मुकदमा दर्ज करने के बाद सभी किसान नेता एक मंच पर आ गये हैं और पुलिस की दमनकारी नीति के खिलाफ लड़ने की रणनीति तैयार कर रहे हैं। मटरू नागर का कहना है एक तरफ पुलिस भाजपा नेताओं द्वारा थाने के सामने धरना देने के मामले में कोई कार्यवाही नहीं करती है और दूसरी तरफ किसान नेताओं के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज करती है।  यदि पुलिस द्वारा जतन भाटी को इस मामले में क्लीन चिट नहीं दी गई तो पुलिस के खिलाफ बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा और दोषी पुलिस अधिकारियों को जिले से बाहर भेजने का काम किया जाएगा। 


Comments