शिक्षा विभाग छात्र हित में ही फैसला लेगा - चौधरी योगेंद्र सिंह 

शिक्षा विभाग छात्र हित में ही फैसला लेगा - चौधरी योगेंद्र सिंह 



मुरादनगर। लॉक डाउन के चलते पिछले कई माह से स्कूल कॉलेज उच्च शिक्षण संस्थान बंद चल रहे हैं। जिससे छात्र छात्राओं का शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है। उत्तर प्रदेश ने 1 जुलाई से अध्यापकों की उपस्थिति कॉलेज में आवश्यक की गई है। वहीं शिक्षण कार्य को लेकर अभी तक सरकार की ओर से कोई स्पष्ट आदेश न मिलने के कारण अध्यापक छात्र अभिभावक असमंजस की स्थिति में हैं। इस बारे में पूर्णज्ञानाजली इंटर कॉलेज के प्रबंधक चौधरी योगेंद्र सिंह ने बताया कि अभी तक शासन की ओर से स्कूल खोलने संबंधी कोई स्पष्ट आदेश नहीं मिले हैं। 25 जून को उत्तर प्रदेश शिक्षा परिषद की एक बैठक होगी उसी में आगामी सत्र की रूपरेखा के बारे में उच्चाधिकारी निर्णय लेंगे। 


सीबीएससी बोर्ड की 26 जून को ऑनलाइन मीटिंग होगी जिसमें अधिकारी स्कूल संचालक शामिल होंगे। जिसमें जुलाई के सत्र के बारे में सलाह की जाएगी जो भी होगा फैसला छात्र हित में ही होगा। उसी का पालन स्कूल संचालकों छात्रों अभिभावकों को पालन करना होगा। उन्होंने बताया कि सीबीएसई बोर्ड से मान्यता लेने वाले स्कूलों से भी 30 जून तक सभी कार्यवाही पूर्ण कराने को कहा गया है। उसके बाद मान्यता का कार्य अगले सत्र तक के लिए रुक जाएगा। योगेंद्र ने बताया कि अभी तक विभिन्न संचार माध्यमों के द्वारा छात्रों का शिक्षण कार्य कराया जा रहा था। आगामी सत्र में क्या स्थिति होगी इसके बारे में प्रस्तावित बैठकों के बाद ही तय होगा। 


 


Comments