पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेसियों ने दिया धरना

पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेसियों ने दिया धरना



मुरादनगर। केन्द्र की भाजपा शासित मोदी सरकार द्वारा निरंतर की जा रही। डीजल-पेट्रोल की दामों में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेससियों ने ब्लॉक मुख्यालय पर धरना दिया। 


कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रभारी उ0प्र0 प्रियंका गांधी व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू विधायक के निर्देशानुसार, जिला कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व एवं नगर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी, मुरादनगर व रजापुर के तत्वाधान में डीजल-पेट्रोल के बढतें दाम के विरोध में ब्लॉक परिसर में शांन्तिपूर्ण ढंग से सामाजिक दूरी का पालन करते हुए प्रर्दशन किया। 


इस अवसर पर जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र यादव, नगर अध्यक्ष व पीसीसी श्रीपाल सिंह, पीसीसी सदस्य चौo विरेन्द्र सिंह व अभय त्यागी राजू विनित त्यागी प्रदेश सचिव युवा कांग्रेस व जिला महासचिव जनार्दन नीमी द्वारा महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन खंड अधिकारी को सौपा गया। 


ज्ञापन के माध्यम से बताया कि लाॅकडाऊन के पिछले तीन माह के दौरान पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले केंद्रीय उत्पाद शुल्क और कीमतों में बार-बार की गई अनुचित बढ़ोत्तरी ने भारत के नागरिकों को असीम पीड़ा व परेशानियां दी हैं। जहां एक तरफ देश स्वास्थ्य व आर्थिक महामारी से लड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर मोदी सरकार पेट्रोल व डीजल की कीमतों और उस पर लगने वाले उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर इस मुश्किल वक्त में मुनाफाखोरी कर रही है।


कांग्रेस नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा भारत के नागरिकों से की जा रही जबरन वसूली एकदम स्पष्ट परिलक्षित हो रही है। उन्होनें कहा कि मई, 2014 में (जब भाजपा ने सत्ता संभाली थी), पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 9.20 रु. प्रति लीटर एवं डीजल पर 3.46 रु. प्रति लीटर था। पिछले छः सालों में केंद्र की भाजपा सरकार ने पेट्रोल पर उत्पाद षुल्क में 23.78 रु. प्रति लीटर एवं डीजल पर 28.37 रु. प्रति लीटर की अतिरिक्त बढ़ोत्तरी कर दी है। चैंकाने वाली बात है कि पिछले छः सालों में भाजपा सरकार द्वारा डीजल के उत्पाद षुल्क में 820 प्रतिषत तथा पेट्रोल के उत्पाद शुल्क में 258 प्रतिशत की वृद्धि की गई। 


केवल पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में बार-बार वृद्धि करके मोदी सरकार ने पिछले छः सालों में 18,00,000 करोड़ रु. कमा लिए। तीन माह पहले लाॅकडाऊन लगाए जाने के बाद पेट्रोल व डीजल पर उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर तो मुनाफाखोरी और जबरन वसूली की सभी हदें पार कर दी गईं। मार्च, 2020 को पेट्रोल व डीजल के मूल्य में 3 रु. प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी की गई। 7 जून, 2020 से लेकर 24 जून, 2020 तक मोदी सरकार ने 18 दिनों तक पेट्रोल व डीजल के मूल्य लगातार बढ़ाए, जिससे डीजल का मूल्य 10.48 रु. प्रति लीटर एवं पेट्रोल का मूल्य 8.50 रु. प्रति लीटर बढ़ गया। 


इस अवसर पर हम समस्त कांग्रेसजन मांग करते हैं कि पेट्रोलियम पदार्थों पर की गई मूल्य वृद्धि को जनहित में तत्काल वापस लेकर आम जनमानस को राहत प्रदान की जाए। जिला महासचिव महताब पठांन, पूर्व नगर अध्यक्ष रियासत अली, विनोद शर्मा व मुस्तकींम भाई, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष रूपेश त्यागी, पूर्व पार्षद मौo हनीफ चीनी, राकेश पाल, पूर्व सभासद राजेन्द्र वर्मा, महबूब हसन, अलीमुद्दीन कस्सार, चाँद सैफी, सलीम अलवी, नईम नेकपुर, रुखसाद मलिक, नौशाद मलिक, गफफार अली सैफी, सचिन शर्मा, मौo जुबेर, युवा नेता मयंक त्यागी, गौरव शर्मा, तस्लींम, मोनू चौo, चाँद चौo, नदीम, हामिद मलिक, आशु मलिक, प्रमोद कुमार, कुनाल पाल, मुफस्सिल चौo, रियाजुद्धिंन मलिक, ड़ाo विपिन त्यागी, वसींम गाजी, उम्मेद मलिक, गफफार सैफी, मौo ज़फार, आकिब गाजी, राजेंद्र शर्मा, विक्की बिशनोई सहित कांग्रेसजन मौजूद रहें।


Comments