दूरदर्शन के माध्यम से भी पढ़ाया जाएगा छात्रों को - यतेश्वर त्यागी

दूरदर्शन के माध्यम से भी पढ़ाया जाएगा छात्रों को - यतेश्वर त्यागी



मुरादनगर। यतेश्वर कुमार त्यागी प्रधानाचार्य राजकीय ऑर्डिनेंस फैक्ट्री इंटर कॉलेज ने छात्रों के लिए कोरोना के कारण कॉलेज बंद होने की स्थिति में छात्रों की शिक्षा बाधित न हो इसलिए नए दिशा निर्देशों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों में वर्चुअल स्कूल विज्ञान गंगा के माध्यम से कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों का पठन पाठन कराया जाएगा। क्योंकि कोविड-19 महामारी वैश्विक परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए छात्रों को व्हाट्सएप के द्वारा पठन पाठन कराया गया था लेकिन अधिकतर अभिभावकों व छात्रों के पास एंड्रॉयड फोन नहीं है या डाटा डलवाने की सामर्थ्य नहीं है। यह वास्तविक सत्य है क्योंकि परिस्थितियां अनुकूल नहीं है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए वर्चुअल स्कूल ज्ञान गंगा के माध्यम से कक्षा 9 से 12 तक छात्रों को अध्ययन कराया जाएगा। इसके अंतर्गत पठन-पाठन दूरदर्शन के माध्यम से कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने एक सर्वे कराया था जिसमें लगभग 90 से 95 प्रतिशत लोगों के पास टीवी है। सभी छात्रों को पठन-पाठन का माध्यम टीवी चैनलों पर उपलब्ध कराया जाएगा। 


चैनलों के माध्यम से पठन-पाठन होगा। उन्हें दूरदर्शन निशुल्क प्रसारित करता है। दो चैनलों के माध्यम से पठन-पाठन कराया जाएगा। पठन-पाठन सप्ताह में 5 दिन सोमवार से शुक्रवार तक समय सारणी के अनुसार प्रसारित होगा। शनिवार को मुख्य विषयों की रिकॉर्डिंग वीडियो पुनः प्रसारित की जाएगी तथा अध्यापक छात्रों की जिज्ञासाओं का समाधान करेंगे। महीने के अंतिम दिन को मासिक परीक्षा होगी। मासिक परीक्षा व्हाट्सएप ग्रुप पर भी दे सकते हैं जो व्हाट्सएप पर नहीं दे सकते या उनके पास साधन नहीं है तो वह अपने उत्तर उत्तर पुस्तिका पर लिखकर विद्यालय द्वारा बनवाई गई। 


कक्षा वार पेटिका में अपने अभिभावकों के माध्यम से डालेंगे तथा मासिक परीक्षा के 3 दिन उपरांत विद्यालय से लेकर उसका स्वयं निरीक्षण करते हुए अपने विद्यालय को दे दें। यदि कोई समस्या हो तो अभिभावक विषय अध्यापक से मिलकर निराकरण करें। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थितियों में विद्यालय के साथ ही अभिभावकों को भी सजग रहना होगा। जिससे छात्रों का भविष्य उज्जवल हो। उन्होंने कहा कि सरकार बच्चों की शिक्षा के प्रति सतर्क है। ऐसे प्रयास किए जा रहे हैं कि छात्रों की शिक्षा प्रभावित न हो।


Comments