गंग नहर पर विसर्जन के लिए पहुंचे श्रद्धालु हुए निराश

गंग नहर पर विसर्जन के लिए पहुंचे श्रद्धालु हुए निराश


 



मुरादनगर। रामनवमी विजयदशमी पावन पर्व इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते सार्वजनिक रूप से नहीं मनाया गया। अधिकांश लोगों ने अपने- अपने घरों में माता की छोटे चित्र के साथ नौ दिनों तक व्रत रखकर पूजा की दशहरे पर घर में ही पूजा कर मनाया गया। अ. भा. परशुराम सेवा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं विनोद मिश्रा ने बताया कि 17 तारीख से शरदीय नवरात्रे का व्रत तथा माता का पूजन किया गया। मिश्रा ने बताया कि छोटी मूर्तियों को लेकर लोग गंगनहर पर विसर्जन के लिए पहुंचे लेकिन गंग नहर में पानी न होने के कारण लोगों को निराशा हुई। प्रतिवर्ष विसर्जन के बाद सफाई के लिए गंग नहर का पानी बंद किया जाता था लेकिन इस बार बहुत पहले ही कर दिया गया।


पहले अस्थाई तालाब मूर्ति विसर्जन के लिए बनाए जाते थे। इस बार उनकी भी कोई व्यवस्था नहीं हुई उन्होंने बताया कि पंं. प्रमोद कौशिक राष्ट्रीय सचिव, पं नरेंद्र शर्मा पूर्व सभासद, महेश गर्ग, रोहताश कुमार, अशोक कुमार, विद्यासागर शर्मा , पं जगदीश शर्मा , ओमपाल शर्मा, अशोक कुमार बोबी शर्मा,पं ओमकार दत्त शर्मा, पं कपिल शास्त्री, पं प्रवीण शर्मा, पं पंकज शर्मा, पं गौरव शर्मा, पं आकाश मिश्रा पूजन कार्यक्रम में शामिल रहे। 


Comments