जयंत पर चली लाठी का असर, जाट मतदाताओं का होगा ध्रुवीकरण मुस्लिम भी रहेंगे साथ - असलम खान

जयंत पर चली लाठी का असर, जाट मतदाताओं का होगा ध्रुवीकरण मुस्लिम भी रहेंगे साथ - असलम खान


 



मुरादनगर। जयंत चौधरी पर चली लाठी ने मुरादनगर क्षेत्र के हालात भी प्रभावित किए हैं। मुरादनगर क्षेत्र में भारी संख्या में जाट मतदाता हैं। राष्ट्रीय लोक दल के पास मुरादनगर विधानसभा सीट स्वर्गीय प्रेम प्रमुख के द्वारा मिली थी। उस समय रालोद व मुस्लिम मतों का ध्रुवीकरण हो गया था। प्रेम सिंह प्रमुख ने अपने प्रतिद्वंदी राजपाल त्यागी को पराजित कर मुरादनगर विधानसभा सीट लोकदल को शॉप विधानसभा में पहुंचे थे। राष्ट्रीय लोक दल के युवा चेहरे जयंत चौधरी पर चलाई गई लाठी को जाट समाज पूरे समाज पर लाठी बता रहे हैं। वहीं मुस्लिम वर्ग भी दोबारा से लोकदल की ओर देखने लगा है। कुछ समय के लिए जाट मतदाता किन्ही कारणों से रालोद से हटकर भाजपा पर चले गए थे लेकिन जाट समाज में आज ही चौधरी चरण सिंह के परिवार का सम्मान है। यही कारण है कि चौधरी चरण सिंह के पुत्र अजीत सिंह के पुत्र पर चली लाठी ने क्षेत्र के जाट मतदाताओं को प्रभावित करना शुरू कर दिया है। 


इस बारे में रालोद के वरिष्ठ नेता असलम खान का कहना है कि मुस्लिम काफी संख्या में रालोद से जुड़ा हुआ था। किन्ही वजहों से मतदाता भ्रमित होकर बैठ गया लेकिन अब जाट मतदाता जब चौधरी चरण सिंह के परिवार के साथ दुर्भाग्यपूर्ण घटना के कारण खुलकर सामने आ गया है। मुस्लिम वर्ग भी चाहता है कि राष्ट्रीय लोक दल और जयंत चौधरी मजबूत हो। 


Comments