मुरादनगर के प्राथमिक विद्यालय उजैड़ा-2 में हैंडवॉश डे मनाया गया

मुरादनगर के प्राथमिक विद्यालय उजैड़ा-2 में हैंडवॉश डे मनाया गया


 



मुरादनगर। ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे: हाथ धोने से बीमारियां नहीं आएंगी पास, स्वाइन फ्लू और संक्रमण से होगा बचाव। हाथों में गंदगी छिपी होती है, जो सामान्य आंखों से दिखाई नहीं देती है। यह गंदगी किसी वस्तु को छूने, उसका इस्तेमाल करने और कई तरह के दैनिक कार्यों के कारण होती है। बिना हाथ धोए खाद्य एवं पेय पदार्थों का सेवन करने से यह गंदगी हमारे शरीर में चली जाती है। जो बाद में कई बीमारियों का कारण बनती है। लोगों में हाथों की धुलाई के प्रति जागरूकता के मकसद से पूरे विश्व में 15 अक्तूूबर को हाथ धुलाई दिवस (ग्लोबल हैंड वाशिंग डे) मनाया जाता है। हाथों को साफ रखने से स्वाइन फ्लू और संक्रमण से भी काफी हद तक बचा जा सकता है।


हाथ धोना है जरूरी


खाने से पहले, खाने के बाद, शौच के बाद अच्छे से हाथ जरूर धोएं। साथ ही हाथ पोंछने के लिए साफ-सुथरी जगह पर सुखाए गए तौलिए का ही प्रयोग करें। तौलियों को उबलते हुए पानी में धोएं, ताकि वे पूरी तरह से कीटाणु मुक्त हो जाएं।


हाथों की लकीरों में छिप जाते हैं कीटाणु


स्कूल के सहायक अध्यापक नवेद आलम बताते हैं कि हाथ धोना स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता का ही एक हिस्सा है। हर व्यक्ति को स्वास्थ्य के प्रति इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान रखना चाहिए। हम दिन में कई चीजों को छूते हैं। ऐसे में कीटाणु हमारे हाथ की लकीरों में छिप जाते हैं। हाथ धोने के लिए हर बार साबुन का प्रयोग करें। 


बच्चों के हाथों की सफाई पर दें ध्यान


स्कूल के अध्यापक साज़िद मलिक जी ने बताया कि बड़ों की तुलना में बच्चे धूल में ज्यादा खेलते हैं। उनके हाथों में कीटाणु ज्यादा पाए जाते हैं। लिहाजा उनके हाथों की सफाई का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। किसी संक्रामक बीमारी से पीड़ित व्यक्ति से हाथ मिलाने के बाद कोई भी वस्तु न खाएं। खाने से पहले हाथ धोने की आदत डाल लेनी चाहिए। 


Comments