यह दौर कांग्रेस की इमरजेंसी से भी कठिन - चौधरी जितेंद्र सिंह कुंडू

यह दौर कांग्रेस की इमरजेंसी से भी कठिन - चौधरी जितेंद्र सिंह कुंडू


 



मुरादनगर। मतदाता चुनाव के दौरान भ्रमित हो भटक गया था। अब लोकदल के परंपरागत मतदाता राष्ट्रीय लोक दल के साथ हो गए है। यह बातें है राष्ट्रीय लोक दल के युवा नेता चौधरी जितेंद्र सिंह कुंडू ने कहते हुए कहा कि भाजपा सरकार की तानाशाही के कारण एक मृतिका के परिवार को सांत्वना घटना की जानकारी के लिए राष्ट्रीय लोक दल के युवा चेहरे जयंत चौधरी पर हाथरस में पुलिस द्वारा लाठी चलाना यही प्रदर्शित करता है कि भाजपा सरकार कॉन्ग्रेस कि इमरजेंसी से भी अधिक दमनकारी हो गई है। लोगों को समझना होगा कि देश की सरकार उनका कितना उत्पीड़न कर रही है। किसी गरीब मजदूर परिवार के साथ इतनी बड़ी घटना हो गई। क्या एक राष्ट्रीय पार्टी का नेता पीड़ित परिवार को सांत्वना देने नहीं जा सकता।


कुंडू ने कहा कि राष्ट्रीय लोक दल चौधरी चरण सिंह के सिद्धांतों पर चल रही है। चौधरी चरण सिंह प्रधानमंत्री रहे। उनके पुत्र चौधरी अजीत सिंह भी कई मंत्रालयों के मंत्री रहे लेकिन चौधरी अजीत सिंह का नाम कभी किसी घोटाले में नहीं आया जबकि आज की सरकार में कितने घोटाले हुए हैं। यह बताना कठिन है उन्होंने गरीब मजदूर किसान अल्पसंख्यक लोगों के हक दिलाने के लिए राजनीति में करोड़ों रुपए के कार्य छोड़ दिए। चौधरी अजीत सिंह जयंत चौधरी भी वही कार्य कर रहे हैं लेकिन फांसीवादी सरकार मनमानी कर रही हैै। कुंडू ने कहा कि हाथरस कांड में सरकार की असलियत सामने आ गई। लोग राष्ट्रीय लोक दल को किसी वजह से छोड़ अन्य पार्टियों में पहुंच गए थे। जयंत चौधरी का साथ देने के लिए दोबारा राष्ट्रीय लोक दल में लौट आए हैं। इस बारे में उन्होंने बताया कि पार्टी स्तर से धरना प्रदर्शन जेल भरो आंदोलन तक के लिए कार्यकर्ता तैयार बैठे हैं। इस घटना से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ख़ास असर पड़ेगा और भारतीय जनता पार्टी को भी पता चल जाएगा कि चौधरी परिवार से लोग नाराज थे लेकिन अब उनके साथ कंधे से कंधा लगाकर चल रहे हैं। चुनावों पर भी जयंत पर चली लाठी असर डालेगा। 


Comments