आयुर्वेद दिवस पर मिलेंगी जीवन रक्षक जानकारियां

आयुर्वेद दिवस पर मिलेंगी जीवन रक्षक जानकारियां


 



मुरादनगर। कोरोना महामारी काल में आयुर्वेद के महत्व को सभी ने समझा है। कोरोना वायरस के खिलाफ इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक चीजों का इस्तेमाल आज देश में हर जगह हो रहा है। देश में तेजी से आयुर्वेद का महत्व बढ़ा है इस बीच 13 नवंबर को पांचवां आयुर्वेद दिवस मनाया जाएगा। आयुष मंत्रालय ने गुरुवार को घोषणा की कि इस साल आयुर्वेद दिवस का मुख्य विषय 'कोविड-19 महामारी के प्रबंधन में आयुर्वेद की महत्वपूर्ण भूमिका' होगा।


नीमा नगर महासचिव डॉ. फहीम सैफी ने बताया आयुर्वेद दिवस 2016 से हर साल धन्वंतरि जयंती के दिन मनाया जाता है। आयुर्वेद दिवस का उद्देश्य आयुर्वेद और उसके विशिष्ट उपचार तरीकों की शक्तियों पर ध्यान केंद्रित करना है। उन्होंने ये भी कहा कि आगामी आयुर्वेद दिवस केवल समारोह या उत्सव नहीं, बल्कि व्यवसाय और समाज के प्रति समर्पण का अवसर है। नीमा नगर एसोसिएशन ने पांचवें आयुर्वेद दिवस पर कई गतिविधियां आयोजित करने एवं कोविड-19 महामारी के लिए आयुर्वेद विषय पर व्याख्यान करने के आयोजन का फैसला किया है। 


Comments