शिक्षा हमारा प्रथम लक्ष्य - सतपाल चौधरी

शिक्षा हमारा प्रथम लक्ष्य - सतपाल चौधरी



मुरादनगर। हमने स्कूल की स्थापना धनार्जन के लिए नहीं देश के भावी कर्णाधरों को पुस्तक शिक्षा के साथ ही अपनी सांस्कृतिक विरासत को बढ़ाने के लिए किया है। यह बातें पाइपलाइन रोड स्थित एकलव्य पब्लिक स्कूल के चेयरमैन  व पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष सतपाल सिंह ने स्कूल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहीं। उन्होंने बताया कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान हमने कई कक्षाओं में 50% तथा कुछ कक्षाओं की थी सो में भी काफी कटौती कर भी निर्देशों के अनुसार शिक्षण कार्य जारी रखा। 

अभिभावकों के साथ ही स्कूल के शिक्षक कर्मचारियों ने भी हमारा काफी सहयोग किया। वेतन आदि में कुछ परेशानी होने के बाद भी वह लोग हमारे साथ डटे रहे जिससे छात्र छात्राओं का शिक्षण कार्य प्रभावित न हो। चौधरी ने बताया कि यह स्कूल 50 छात्रों के साथ प्रारंभ किया था। वह अब 600 से ज्यादा हो गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार से सेवानिवृत्त संस्था के सेक्रेटरी कल्याण सिंह ने बताया कि यह स्कूल बालाजी चैरिटेबल ट्रस्ट के अंतर्गत चलाया जा रहा है। हमने कोरोना के दौरान  अभिभावकों को हर संभव छूट दी। स्कूल के कर्मचारियों को भी समय पर वेतन देने का प्रयास किया।। स्कूल का रखरखाव भी पूरी तरह से किया। ऐसा मात्र एकलव्य पब्लिक स्कूल ही है जहां सबसे पहले फीस में कटौती की गई। खेल के क्षेत्रों में भी हमारे स्कूल के छात्र विभिन्न प्रतियोगिताओं में अनिल को पदक जीत कर लाए हैं। उन्होंने कहा कि 2008 से प्रारंभ स्कूल निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है। इस अवसर पर ट्रस्टी कमलेश चौधरी पवन शर्मा प्रिंसिपल रूपा त्यागी वाइस प्रिंसिपल विकास त्यागी अकाउंट अधिकारी सुनील आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे।




 

Comments