उखलारसी श्मशान घाट पीड़ितों ने केंद्रीय मंत्री का किया घेराव

उखलारसी श्मशान घाट पीड़ितों ने केंद्रीय मंत्री का किया घेराव




मुरादनगर। यहां असालत नगर स्थित जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान के उद्घाटन कार्यक्रम में आए। क्षेत्रीय सांसद केंद्रीय मंत्री रिटायर्ड जनरल वी. के .सिंह का घेराव कर उखलारसी श्मशान घाट त्रासदी से प्रभावित लोगों ने सरकारी नौकरी तथा मकान दिलाने की मांग की। शासन द्वारा घोषित सरकारी नौकरी तथा मकान न मिलने के कारण लोगों में आक्रोश है। इस विषय में केंद्रीय मंत्री को एक ज्ञापन भी दिया गया। उन्होंने पीड़ित परिवारों को आश्वासन दिया कि वह उनकी हर संभव सहायता कराएंगे। ज्ञात हो कि 3 जनवरी को श्मशान घाट का बरामदा गिर जाने के कारण 24 लोगों की मृत्यु हो गई थी तथा दर्जनों गंभीर रूप से घायल हुए थे। नगर पालिका द्वारा बनवाए गए बरामदे के गिरने से हुई मौतों के लिए नगर पालिका द्वारा भ्रष्टाचार किए जाने के आरोप लगाते हुए 4 जनवरी को मृतकों के शव रखकर हाईवे जाम कर दिया था।  कमिश्नर मेरठ मंडल अनीता सी मेश्राम और जिलाधिकारी गाजियाबाद अजय शंकर पांडे के द्वारा 4 जनवरी 2021 लिखित आश्वासन दिया था कि    प्रत्येक मृतक के परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी और एक मकान उपलब्ध कराया जाएगा।  लेकिन आवास और नौकरी अभी तक नहीं मिल पायी है।
पीड़ित पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया कि सरकारी अधिकारी वादे से मुकर रहे हैं। उप जिलाधिकारी मोदीनगर को ज्ञापन देने के बाद जिला रोजगार कार्यालय से पीड़ितों को मिले पत्र में स्पष्ट लिखा गया है कि वह सरकारी नौकरी देने में सक्षम नहीं है। समय-समय पर आयोजित होने वाले रोजगार मेलों में निजी संस्थानों में कार्य दिलाने के प्रयास किए जा सकते हैं। इस पत्र से लोगों ने भारी आक्रोश है। इससे पूर्व क्षेत्रीय विधायक अजीत पाल त्यागी को भी पीड़ित परिवार ज्ञापन देकर नौकरी व आवास दिलाने की मांग कर चुके हैं। इस हादसे में कई ऐसे परिवारों के एकमात्र सहारे उनसे छिन गए। नौकरी न मिल पाने के कारण उन परिवारों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

Comments