उखलारसी श्मशान घाट हादसे में मृत लोगों के परिजन मिले विधायक से

उखलारसी श्मशान घाट हादसे में मृत लोगों के परिजन मिले विधायक से




मुरादनगर। उखलारसी श्मशान घाट त्रासदी में जिन लोगों के परिजन उन्हें हमेशा के लिए छोड़ कर चले गए। संबंधित परिवारों के लोग थाने पहुंचे। परिवारों को पता चला था कि थाने में उच्चाधिकारी आए हुए हैं। वहां उन्हें क्षेत्रीय भाजपा विधायक अजीत पाल त्यागी मिले। पीड़ितों ने उन्हीं को ज्ञापन देकर नौकरी तथा मकान दिलाने की घोषणा को पूर्ण कराने की मांग करते हुए कहा कि श्मशान घाट का लेंटर गिर जाने के कारण दो दर्जन लोगों की मृत्यु के पश्चात सरकार के द्वारा प्रत्येक मृतक के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और फ्लैट देने की गई। घोषणा की गई थी लेकिन उस पर अभी तक अमल नहीं हुआ है जिससे परिवारों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। पत्र में बताया गया है कि संबंधित परिवारों को जिला रोजगार सहायता अधिकारी गाजियाबाद संतोष कुमार सिंह से पत्रांक संख्या 341 प्राप्त हुआ है। जिसमें उन्होंने विभाग द्वारा आयोजित होने वाले रोजगार मेले में भाग लेकर निजी क्षेत्र के संस्थानों में नौकरी तलाश करने के लिए कहा है। 
सरकारी नौकरी के संबंध में बताया है कि  गाजियाबाद कार्यालय से सरकारी नौकरी देना कभी भी संभव नहीं होता। पीड़ितों ने कहा कि जिला रोजगार सहायता अधिकारी गाजियाबाद के माध्यम से भेजे हुए उपरोक्त पत्र से उन्हें गहरा आघात लगा है। सरकार द्वारा घोषित सभी सहायता उपलब्ध कराई जाएं। पत्र में जानकारी दी है कि श्मशान घाट में 3 जनवरी को लेंटर गिर जाने के कारण उसी की चपेट में आने से 24 लोगों की दर्दनाक मृत्यु हो गई थी।
जिसके पश्चात कमिश्नर मेरठ मंडल अनीता और जिलाधिकारी गाजियाबाद अजय शंकर पांडे के द्वारा दिनांक 4 जनवरी 2021 लिखित आश्वासन दिया था कि प्रत्येक मृतक के परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी और एक मकान उपलब्ध कराया जाएगा। 
अभी तक हमको आवास और नौकरी नहीं मिल पायी है। सरकारी नौकरी जल्दी से जल्दी दिलाई जाए क्योंकि बिना नौकरी के परिवारों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। बच्चों की शिक्षा आगे होने में परेशानी होगी। बहुत से परिवारों के पास अपने मकान नहीं है। वह किराए पर रह रहे हैं। उनके कमाने वाले नहीं रहे किराया देना भी मुश्किल हो रहा है। मकान घोषणा के मुताबिक उपलब्ध कराया जाए।  विधायक अजीत पाल त्यागी ने कहा कि यह कार्य मेरे अधिकार क्षेत्र से बाहर का है लेकिन फिर भी पूरा प्रयास किया  जाएगा कि उन्हें कहीं समायोजित कराया जा सके। विधायक से मुलाकात करने वालों में मंजू कविता निधि शिवानी ममता पिंकी मनीष पुष्प लता सुरेंद्र धरम वीर सुधा त्रिपाठी रविंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।

इस हादसे में जय वीर पुत्र बलबीर सिंह 

सुधाकर चौधरी पुत्र हरवीर सिंह 

सुरेश जुनेजा पुत्र दर्शन दयाल 

दिग्विजय पुत्र मुकेश सोनी

सुनील कुमार पुत्र विष्णु 

अक्ष पुत्र विनोद कुमार

 विनोद कुमार 

सुनील पुत्र मसीता 

दिलीप बत्रा पुत्र  रामधन 

ओमप्रकाश पुत्र अनूप सिंह 

प्रमोद कुमार  पुत्र रामपाल

नितिन पुत्र  इकबाल सिंह

राजीव पुत्र  सुरेंद्र पाल 

रोबिन पुत्र  संजीव 

नेपाल पुत्र  कालूराम 

दिनेश पुत्र  परमानंद 

अरविंद पुत्र ओमकार 

सतीश पुत्र  जय सिंह 

बंटी पुत्र टीकाराम 

जोगेंद्र पुत्र टेकचंद 

ओमकार पुत्र हरि सिंह एवं चार अन्य की मृत्यु हो गई थी।
Comments