पूर्व कैबिनेट मंत्री भाजपा विधायक नहीं जिता पाए परिवार के सदस्यों को

पूर्व कैबिनेट मंत्री भाजपा विधायक नहीं जिता पाए परिवार के सदस्यों को




मुरादनगर। त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव क्षेत्र से जिला पंचायत के वार्ड 6, 7, 8 के लिए वोट पड़े। यहां रालोद, बसपा, सपा तीनों पार्टियों के प्रत्याशी जीते। सत्ताधारी भाजपा का खाता भी नहीं खुला। वार्ड 6 तथा 8 पर लोगों की विशेष निगाहें थी क्योंकि यहां से पूर्व कैबिनेट मंत्री राजपाल त्यागी के बड़े पुत्र तथा क्षेत्रीय भाजपा विधायक अजीत पाल त्यागी के बड़े भाई गिरीश त्यागी की पत्नी रश्मि त्यागी तथा पुत्र मोहित चुनाव लड़े। जिन्हें जिला पंचायत अध्यक्ष का प्रत्याशी माना जा रहा था। दोनों ही सीटों पर भाजपा अपने प्रत्याशी घोषित नहीं कर पाई थी। इन चुनावों में राजपाल त्यागी विधायक अजीत पाल परिवार के दोनों ही सदस्यों को विजयश्री दिलाने के लिए प्रयासरत रहे लेकिन मतदाताओं ने यह जवाब दिया कि पार्टी का टिकट होल्ड करा सकते हैं लेकिन जनता नेताओं से ऊपर होकर सोचने लगी है। वार्ड 6 से पूर्व सदस्य विकास यादव की पत्नी मीनू यादव ने भारी मतों के अंतर से जीत दर्ज कराई। वहीं वार्ड 7 पर भाजपा प्रत्याशी को भी हार का मुंह देखना पड़ा। रालोद समर्थित अमित सरना को मतदाताओं ने अपना प्रतिनिधि चुना। वार्ड 8 से बसपा की प्रिया सिंह सफल रही। यह तीनों वार्ड मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र से संबंधित हैं। पूर्व कैबिनेट मंत्री सत्ताधारी पार्टी के विधायक के लिए भी यह शुभ संकेत नहीं हैं। किसान आंदोलन के कारण ग्रामीण अंचल में सत्ता विरोध भी इन नतीजों का कारण बना। विकासखंड के 48 ग्राम पंचायतों के प्रधान तथा क्षेत्र पंचायत सदस्यों की भी घोषणा कर दी गई है। वार्ड 7 से चुनी गई मीनू यादव के पति विकास यादव ने बताया कि उनके साथ प्रशासन ने धांधली का प्रयास किया। काफी देर से प्रमाण पत्र दिया गया।




Comments