अपहृत किशोरी की बरामदगी की मांग, महिलाओं ने थाने पर प्रदर्शन कर किया हंगामा

अपहृत किशोरी की बरामदगी की मांग, महिलाओं ने थाने पर प्रदर्शन कर किया हंगामा 




मुरादनग। अपहृत किशोरी की बरामदगी की मांग को लेकर महिलाओं ने थाने पर प्रदर्शन कर हंगामा किया। महिलाओं ने आरोप लगाया कि पुलिस ने अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के बाद रुपए लेकर छोड़ दिया वहीं विवाह समारोह में भाग लेकर घर वापस लौट रही अपहृत किशोरी के बारे में भी पुलिस कुछ पता नहीं लगा सकी है। परिजनों को तसल्ली देने के 1 लिए एक सप्ताह बाद किशोरी की गुमशुदगी दर्ज की है। सरकार महिला सुरक्षा नारी उत्थान के अनेक प्रयास कर रही है। लेकिन स्थानीय पुलिस ऐसे मामलों को लेकर सरकार की भी  किरकिरी करा रही है। थाना क्षेत्र के एक गांव से लगभग एक महीने पहले 15 वर्षीय किशोरी का अपहरण कर लिया गया था। आरोप है कि पीड़ित पक्ष द्वारा अपहरणकर्ता के बारे में पुलिस को जानकारी दी गई थी। पुलिस ने उसे 2 दिन हिरासत में रखा ओर रुपए लेकर छोड़ दिया। लेकिन लापता का पता नहीं लग सका किशोरी की मां ने बताया कि चौकी प्रभारी उनकी पुत्री को बरामद कर आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाए उल्टे हम पर ही बेटी को गायब करने का आरोप लगाकर धमका रहे हैं। आक्रोशित महिलाओं ने काफी देर तक थाने पर प्रदर्शन कर चौकी प्रभारी के खिलाफ भी कार्रवाई की। नगर की एक कॉलोनी निवासी व्यक्ति की पुत्री रेलवे रोड पर एक विवाह समारोह में शामिल होकर बाजार में स्थित अपने घर की ओर जा रही थी कि बंबा दिल्ली मेरठ हाईवे से उसका अपहरण कर लिया गया जिसकी सूचना पुलिस को दी गई लेकिन पुलिस ने 1 सप्ताह बीत जाने के बाद भी किशोरी 14 वर्ष की बरामदगी के प्रयास तो दूर रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की। परिजन लगातार थाने के चक्कर लगाकर अनिष्ट की आशंका जताते हुए बरामदगी की मांग कर रहे हैं। 7 दिन बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है लेकिन अग्रिम कार्यवाही के लिए कोई आश्वासन भी पीड़ित पक्ष को नहीं दिया है। पुलिस की कार्यशैली के कारण लोगों में आक्रोश है। दोनों ही पक्षों ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर स्थानीय पुलिस की शिकायत व किशोरियों की बरामदगी की मांग करेंगे।

Comments