गांव की गलियों तक पहुंचा कोरोना का कहर

गांव की गलियों तक पहुंचा कोरोना का कहर


मुरादनगर। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का कहर अभी कम होता नजर नहीं आ रहा। ग्राम पंचायत चुनावों के दौरान गांव में पहुंची महामारी की चपेट में आए लोगों की सांसे रुकने की संख्या बढ़ती ही जा रही है। चुनाव में भाग लेने वाले कई लोगों की जाने जा चुकी हैं जिनमें चुनाव जीतने तथा हारने वाले दोनों ही शामिल हैं। कोई विजेता घोषित होने के बाद जिंदगी हार गया कुछ मतगणना से पहले ही कोरोना से लड़ाई की जंग हार गए सरकार की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों में महामारी की रोकथाम के लिए अनेकों योजनाएं सरकार बता रही है। लेकिन धरातल पर अभी रोकथाम के लिए कुछ होता दिखलाई नहीं दे रहा गांव में बने सरकारी अस्पतालों में अभी तक भी व्यवस्थाएं ऐसी नहीं बन पाई हैं। जिससे लोगों को राहत मिल सके क्षेत्र के कई गांव में दर्जनों से अधिक लोग अकाल काल के गाल में समा गए। सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना की रोकथाम के लिए धन का आवंटन भी किया है लेकिन उसका इस्तेमाल भी अभी कहीं शुरू होता हुआ नहीं दिख रहा। जांच सैनिटाइजेशन जैसी प्राथमिक कार्य भी प्रारंभ नहीं किए जा सके हैं। नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान अन्य प्रतिनिधि अभी शपथ नहीं ले सके हैं सरकारी कर्मचारी अधिकार सरकार की योजनाओं को प्रारंभ करने में लापरवाह दिखलाई दे रहे हैं। कुछ गांवों में कैंप आयोजित किए गए हैं उनका भी कोई सकारात्मक लाभ अभी तक दिखलाई देना शुरू नहीं हुआ है। इस बारे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ कैलाश चंद्र से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन हो नहीं सका।


Comments