मुरादनगर बना कालाबाजारी की मंडी स्थानीय पुलिस मौन

 मुरादनगर बना कालाबाजारी की मंडी स्थानीय पुलिस मौन



 मुरादनगर। यहां से ऑक्सीजन फ्लो मीटर व कोरोना के इलाज में उपयोगी यंत्र महानगरों तक ऊंचे दामों में पहुंचाए जा रहे हैं। लेकिन स्थानीय पुलिस को यह पता ही नहीं है कि उसके क्षेत्र में क्या क्या हो रहा है। यहां लाकर बड़े पैमाने पर माल का स्टॉक किया जा रहा है। जो कई गुना दामों में जरूरतमंदों को गाजियाबाद मेरठ दिल्ली नोएडा तक सप्लाई किया जा रहा है। क्षेत्र में कहां कौन क्या कर रहा है यह पुलिस को पता न चले यह मुमकिन नहीं लगता और पता चलने पर ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही न होना उसका कारण समझना कठिन नहीं है। गाजियाबाद पुलिस द्वारा मुरादनगर के दो युवकों बिलाल पुत्र सगीर फिरोज पुत्र हनीफ निवासी रावली रोड को ऑक्सीजन फिलोमीटरों के साथ उस समय गिरफ्तार कर लिया जब वह एक पीड़ित को ऊंचे दामों में पहुंचाने जा रहे थे। उन्होंने पूछताछ में कोरोना लाकडाउन के दौरान ही बड़ी संख्या में ऐसे सामानों की कालाबाजारी कर मोटा रुपया कमाना स्वीकार करते हुए बताया कि वह इधर उधर से सामान इकट्ठा कर मुरादनगर रखते थे और यहीं से खरीदने वाले से सौदा होने के बाद अन्य स्थानों पर पहुंचाते थे।
Comments