विवेक साहस हर समस्या से दिला सकता है मुक्ति. विनोद जिंदल

विवेक साहस हर समस्या से दिला सकता है मुक्ति. विनोद जिंदल

 मुरादनगर। हम सब इतने सक्षम हैं कि हर समस्या का चाहे वह कितनी ही भयावह प्रतीत होने वाली क्यों ना हो स्वयं विवेक से उसका समाधान ढूँढ सकते हैं। यह बातें समाजसेवी शिक्षाविद विनोद जिंदल ने वार्ता के दौरान कहते हुए कहा कि हमारे पास प्रभु ने वह शक्ति दी है कि हम हर प्रतिकूल परिस्थिति को अनुकूल में परिवर्तित कर सकते हैं। उसके लिए हमें सिर्फ धैर्य सूझबूझ एवं साहस की ज़रूरत होती है । जिन्दल ने कहा कि यही नियम हमारे वर्तमान में संक्रमण की महामारी की परिस्थितियों पर भी अक्षरशः लागू होता है। हमारी सूझबूझ, धैर्य व सावधानी ही हम सब को प्रतिकूल परिस्थितियों से बचाएगी। परन्तु अगर हम असावधान हैं तो हम न केवल अपने परिवार के साथ ही पूरे क्षेत्र के लिए परेशानी के कारण बन सकते हैं। इतने दिन से हम सब ने सावधानी रखी है इस समय वास्तव में अतिरिक्त धैर्य एवं सावधानी की आवश्यकता है। अधीर न हो अनलाकडाउन में विशेष रूप से सचेत रहें जब तक बहुत ही अवश्यक न हो घर से बाहर कदम मत निकालिये बाज़ार की बजाय घर ही सुरक्षित है। हम स्वयं को सुरक्षित रख कर ही इस महामारी से लड़ सकते हैं एवं अपने पारिवारिक एवं सामाजिक दायित्वों का पूर्ण निर्वहन कर सकते हैं। यह याद रखिये काम की समाप्ति यदि संतोषप्रद हो तो काम की थकान याद नहीं रहती।


Comments