सड़क किनारे खड़े वाहन हो सकते हैं हादसे

सड़क किनारे खड़े वाहन हो सकते हैं हादसे


मुरादनगर। हाईवे पर खड़े वाहन कभी भी बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकते हैं। सड़क के एक और कई दिनों से खराब ट्रक खड़े हुए हैं दूसरी ओर पुलिस ने कब्जे में लिए हुए वाहनों को खड़ा कराया हुआ है और इतनी लापरवाही थाने के सामने ही हो रही है। मेरठ दिल्ली रैपिड रेल का निर्माण कार्य चलने के कारण सड़क का बड़ा हिस्सा कार्यदाई संस्था ने बैरीकैटिंग कर घेरा हुआ है जिससे सड़क की चौड़ाई काफी कम हो गई है। चालकों को ओवरटेकिंग करने के लिए भी खुले स्थान तक आगे चल रहे वाहन के पीछे ही चलना पड़ता है। थाने के निकट सड़क के दोनों ओर वाहन खड़े होने से सड़क बीच में छोटा रास्ता बन गई है। खराब वाहनों में इंडिकेटर आदि भी नहीं हैं जिसके कारण रात्रि में वह दूर से नहीं दिखलाई देते जिसके कारण तेज गति से आने वाले वाहन उन से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो सकते हैं। पुलिस द्वारा पकड़े गए बड़े वाहनों को थाने के बाहर ही सड़क किनारे खड़ा करा दिया जाता है क्योंकि थाने के अंदर पर्याप्त स्थान नहीं है खराब हुए वाहनों के चालकों ने भी लापरवाही की हदें पार करते हुए खराब वाहनों को सड़क किनारे ही खड़ा कर दिया है। बैरीकैटिंग के कारण यहां खड़े वाहन पास पहुंचने पर ही दिखलाई देते हैं जिसके कारण आ रहे वाहन चालकों को गाड़ियों की रफ्तार अचानक कम करनी पड़ती है जरा सी चूक होते ही वाहन टकरा सकते हैं। क्षेत्र में खड़ी गाड़ियों से वाहन टकराने के कारण कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं जिनमें लोगों को जान तक गंवानी पड़ी थी लेकिन फिर भी इसी तरह की लापरवाही की जा रही है। पुलिस के सामने ही जानलेवा स्थिति बनी हुई है इस बारे में अखिल भारतीय मानवाधिकार निगरानी समिति के राष्ट्रीय सचिव लाला गंगा शरण ने बताया कि उच्चाधिकारियों को स्थिति से अवगत कराकर ऐसे वाहनों को खड़ा करने की व्यवस्था किसी और स्थान पर करने का अनुरोध किया जाएगा।

Comments