कॉलोनियों के बीच गंदगी से फैल सकते हैं संक्रामक रोग

कॉलोनियों के बीच गंदगी से फैल सकते हैं संक्रामक रोग 

मुरादनगर। आयुध निर्माणी क्षेत्र में जाने के लिए ओवर ब्रिज बनने के बाद पुल तथा डिफेंस कॉलोनी के बीच स्थित सड़क के दोनों किनारे कूड़ेदान में बदल गए हैं। एक तरफ पुल के नीचे का खाली भाग दूसरी ओर आयुध निर्माणी की भूमि पर गंदगी के ढेर हैं जिसके कारण आसपास की कालोनियों में संक्रामक रोग फेल सकते हैं। पुल निर्माण से पहले आयुध निर्माणी तथा दर्जनों गांवों को जाने का यही एकमात्र रास्ता था अब लोग ओवर ब्रिज से जाने आने लगे हैं। रेलवे फाटक बंद कर दिया गया था लेकिन इस मार्ग की उपयोगिता अभी भी समाप्त नहीं हुई है। इस मार्ग से दर्जनों कालोनियों के निवासियों की आवाजाही होती है। वहीं जिन्हें पैदल आयुध निर्माणी की ओर जाना होता है वह भी इसी सड़क का इस्तेमाल करते हैं। विशेषकर सीनियर सिटीजन तथा दिव्यांग जो पुल पर होकर जाने में असमर्थ हैं। ओवर ब्रिज के नीचे खाली स्थान पर अघोषित डंपिंग ग्राउंड बन गया है। सड़क के किनारे वाले भाग में कूड़े गोबर के ढेर हैं दूसरी ओर डिफेंस कॉलोनी से लगती हुई। आयुध निर्माणी की भूमि पर भी गंदगी का साम्राज्य है वहां से पैदल जाने वाले दुर्गंध के कारण नाक बंद कर वहां से निकल जाते हैं। रोड के निकट एक और डिफेंस कॉलोनी की बड़ी आबादी है दूसरी ओर राधे श्याम विहार में भी बड़ी जनसंख्या रहती है उन लोगों के लिए यहां की गंदगी अभिशाप बन गई है। यहां की दुर्गंध घरों तक में लोगों को परेशान करती है गंदगी में पनपने वाले कीटाणु घरों की सैर करते हैं। बरसात के समय यहां पड़ा कूड़ा और ज्यादा सडने लगेगा जिसमें संक्रामक रोग वाहक कीटाणु पैदा हो आसपास की आबादी के लिए भारी मुसीबत बन सकते हैं। इस बारे में डिफेंस कॉलोनी निवासी आयुध निर्माणी इंटर कॉलेज के अध्यापक रविंद्र सिंह चौहान ने बताया कि उनके घरों को जाने के लिए यह मार्ग सुगम है। लेकिन यहां फैली गंदगी उन लोगों के लिए मुसीबत बनी हुई है। जिंदल मार्बल संचालक मुनेश जिंदल ने बताया कि आयुध निर्माणी जैसे महत्वपूर्ण संस्थान के रास्ते पर लगे गंदगी के ढेरों से दूर तक क्षेत्र की गलत तस्वीर जाती है।

Comments