भाजपा द्वारा नामित सभासद का संघर्ष सरकारी भूमि पर कब्जा आयुक्त के यहां शिकायत

भाजपा द्वारा नामित सभासद का संघर्ष सरकारी भूमि पर कब्जा आयुक्त के यहां शिकायत


मुरादनगर। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भू माफियाओं के खिलाफ सख्त तेवर दिखा रहे हैं, लेकिन यहां सरकारी भूमि को भू माफियाओं के चंगुल से बचाने के लिए सत्ताधारी पार्टी द्वारा नगर पालिका परिषद में नामित सभासद की शिकायत को भी रद्दी की टोकरी में डाल दिया गया। वह भी उस हालत में जब सभासद द्वारा की गई सरकारी जमीन पर कब्जे की शिकायत सही पाई गई थी। उप जिलाधिकारी द्वारा कार्यवाही न किए जाने से आहत हो पूरे मामले की शिकायत आयुक्त के यहां की गई है। नामित सभासद डॉ विजय पाल हितकारी ने पत्र में कहा है कि सरकारी भूमि पर कब्जा कर फैक्ट्रियां बना ली गई बाकी जमीन पर झुग्गियां डलवा संदिग्ध बांग्ला भाषी परिवारों को वहां बसा दिया है। भूमि की कई बार नापतोल हो चुकी है जांच में भूमि सरकारी पाई गई है। उसके पश्चात भी उप जिलाधिकारी मोदीनगर भू माफियाओं के साथ सांठगांठ कर उन्हें लाभ तथा सरकार को नुकसान पहुंचा रहे हैं। अधिकारियों का रवैया भी सरकार की नीतियों के अनुरूप नहीं दिखलाई दे रहा उन्होंने पत्र में लिखा है कि

भू माफियाओं द्वारा सरना मुरादनगर की खसरा 568, 575 खसरा न 572 सरकारी भूमि दबंग भूमाफिया जो कि अतीक अहमद को अपना रिश्तेदार बताकर लोगों को धमकाते हैं। कई बार भू नाप चिन्हकरण हो चुके हैं सभी में यह भूमि सरकारी पाई गई है अभी तक इस भूमि को माफियाओं से अपने कब्जे में ले लेना चाहिए था। लेकिन उपजिलाधिकारी मोदीनगर भू माफियाओं को संरक्षण देकर सरकार का नुकसान पहुंचा रहे हैं। भू माफियाओं के खिलाफ कारवाही कर सरकारी जमीन उनके कब्जे से ली जाए तथा उप जिलाधिकारी मोदी नगर की भी इस मामले में जांच कराई जाए। इस बारे में महंत डॉ विजय पाल हितकारी ने बताया कि पत्र के साथ ही पूर्व में हुई कार्रवाई से अवगत कराने के लिए उनके प्रतिलिपि भी भेजी गई हैं।


Comments